25 दिसंबर को अपनी माँ और पत्नी से मिल सकेंगे जाधव

कुलभूषण जाधव

भारतीय नौसेना के पूर्व कमांडर कुलभूषण जाधव को 25 दिसम्बर को अपनी पत्नी और माँ से पाकिस्तान की जेल में मिलने की अनुमति मिल गयी है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैज़ल ने शुक्रवार को साप्ताहिक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह जानकारी दी। फैज़ल ने कहा कि जाधव को केवल उनकी पत्नी और माँ से मिलने की अनुमति दी गयी है। इस मुलाकात के दौरान पाकिस्तान उनकी पत्नी और माँ को वीज़ा देतव और उनकी स्वतंत्रता और सुरक्षा की ज़िम्मेदारी लेने को तैयार हो गया है।

भारतीय विदेश मंत्री ने इस बात की जानकारी जाधव के परिवार को दी और इसकी जानकारी अपने ट्विटर एकाउंट से भी साझा की। उन्होंने ने बताया- ‘मैने कुलभूषण जाधव की माँ अवंतिका जाधव से बात की है और उन्हें इसकी जानकारी दे दी है।’ जाधव को भारत के लिए जासूसी के अपराध में पाकिस्तान की मिलिट्री कोर्ट ने मौत की सज़ा सुनाई है, हालाँकि भारत ने इससे इनकार किया है।

पाकिस्तान ने सिर्फ जाधव की पत्नी को वीज़ा देने की पेशकश की थी, इस पर भारत ने उनकी माँ को भी वीज़ा देने की मांग रखी। साथ ही साथ भारत इनकी स्वतंत्रता और सुरक्षा की भी जिम्मेदारी लेने को भी कहा। आपको बता दें कि पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग के एक राजनयिक अधिकारी को उनके साथ तैनात किया जाएगा। भारत की इन शर्तो को पाकिस्तान ने मंजूरी दे दी है।