आज की तारीख 14 फरवरी वैलेंटाइन दिवस

वैलेंटाइन डे, यानी प्रेमी दिवस पूरे विश्व में युवाओं द्वारा मनाया जाता है।प्रतिवर्ष 14 फरवरी को वैलेंटाइन दिवस संत वैलेंटाइन की याद में मनाया जाता है।यह प्रेमियों और मित्रों के साथ मिल बैठकर मनाया जाता है और एकदूसरे को चाहनेवालों को प्यार-भरी अनुभूति दे जाता जो पूरे वर्ष उन्हें याद रहती है,क्योंकि प्यार एक ऐसी संवेदना है,जिसके दम पर इंसान बड़ी-से-बड़ी मुसीबत झेल जाता है। प्यार सिर्फ मनुष्य को ही नहीं बल्कि जानवरों और पौधों को भी सहला जाता है।

वैलेंटाइन दिवस की कहानी तीसरी शताब्दी की घटना है।उन दिनों रोम में सम्राट क्लाउजिएश राज्य करते थे। अपने राज्य में बड़ी फौज खड़ी करने के लिए उन्होंने नवयुवकों के विवाह पर प्रतिबंध लगा दिया था। नवयुवक यह आज्ञा सुनकर भड़क उठे आर उनकी आज्ञा की अवहेलना करते हुए चुपके चुपके गिरिजाघरों में शादियां करने लगे। संत वैलेंटाइन प्यार के पुजारी थे अतः वे भी उनकी शादियां कराने लगे लेकिन रात के अंधेरे और मोमबत्तियों के रौशनी में।एक दिन सम्राट के गुप्तचरों ने उन्हें देख लिया और रात्रि वेला में एक जोड़े की शादी करवाते पकड़े गए तथा बंदी बना लिए गए।

लोगों ने संत वैलेंटाइन के प्रति सद्भावना में ना जाने कितने गुलाब, पैसे और संदेश भरे कार्ड लिख-लिख कर जेल भेजते रहे, परंतु संत वैलेंटाइन को सम्राट की आज्ञा न मानने के जुर्म में कैद में ही रखा गया और एक दिन जेल में ही उनकी मृत्यु हो गई। तभी से यह दिन उनकी याद में प्यार में न्योछावर होने के दिन के रूप में मनाया जाता है।

इस दिन खासकर युवक और युवतियों को आपस में प्यार बांटने का एक अच्छा मौका मिल जाता है। अब यह त्योहार सिर्फ युवक युवतियों तक ही सीमित नहीं है बल्कि इस दिन सभी उम्र के लोग आपस में मिल-बैठ कर खाने-पीने और प्यार बांटने का मौका पा लेते हैं। प्रतिवर्ष इस वैलेंटाइन दिवस का युवकों और युवतियों को बेसब्री से इंतजार रहता है कि कब 14 फरवरी आए और हैप्पी वैलेंटाइन डे कहा जाए। यह दिन प्रेमी और प्रेमिका के बीच प्यार के इजहार का दिन है जो लाल गुलाब या उपहार से जताया जाता है।