रुपए में आई गिरावट, डॉलर हो रहा हैं लगातार मजबूत

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले सोमवार को भारतीय रुपया 1.08 रुपए (1.60%) गिरकर 69.93 बंद हुआ। यह इसका रिकॉर्ड निचला स्तर है। यह पिछले पांच साल में एक दिन में इसकी सबसे बड़ी गिरावट है। इससे पहले रुपया अगस्त 2013 में एक दिन में 148 पैसे (2.4%) टूटा था। शुक्रवार को यह एक डॉलर के सामने 15 पैसे के नुकसान के साथ 68.83 पर बंद हुआ था। वहीं अन्य करेंसी के मुकाबले डॉलर मजबूत हो रहा है। मार्केट के जानकारों का मानना है कि अमेरिका और चीन में ट्रेड वार बढ़ने के बीच ऑयल इंपोर्टर्स द्वारा डॉलर की बढ़ी डिमांड और अगले महीने अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने की उम्मीद इससे जताई जा रही है, जिसके कारण भी डॉलर लगातार मजबूत हो रहा है।

ऐसे में देश में आयात होने वाला हर सामान-सेवा महंगी हाेंगे। भारत में पेट्रोल-डीजल तैयार करने के लिए कच्चे तेल का सबसे अधिक आयात होता है। इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक्स के उपकरण जैसे मोबाइल फोन, टीवी, लैपटॉप आदि का ज्यादा आयात होता है। तीसरे नंबर पर सोने का ज्यादा आयात किया जाता है। विदेश में पढ़ाई और विदेश घूमना भी महंगा होगा। लेकिन आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने बयान दिया है कि चिंता की कोई बात नहीं है, रुपया वैश्विक कारणों से प्रभावित हुआ है और ये आगे चलकर मजबूत हो सकता है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram