दाऊद और छोटा शकील के बेटों ने अपनाया धर्म का रास्ता, बन गया हफीज

फरार माफिया डॉन दाऊद इब्राहिम कास्कर के बेटे के मौलाना बनने के एक साल बाद उसके करीबी सहयोगी छोटा शकील के इकलौते बेटे ने भी पाकिस्तान के कराची में आध्यात्मिक रास्ते पर अपने कदम आगे बढ़ा दिए हैं। मुबश्शिर शेख ने हाल ही में अपना हाफजा पूरा किया है, यानी उन्होंने पवित्र ग्रंथ कुरान की सभी 6,236 आयतें मुंह जुबानी याद कर ली हैं। सबसे छोटे बेटे 18 वर्षीय मुबश्शिर शेख अपराध जगत की दुनिया के लोगों को धक्का लगा है।

छोटा शकील का बेटा बना हाफ़िज़-

छोटा शकील की तीसरी संतान यानी मुबश्शिर शेख हाफिज ए कुरान बनने के लिए किसी भी व्यक्ति को कुरान में लिखी गईं 6, 236 आयते को जुबानी याद कर ली हैं। इसे इस्लाम के किसी भी अनुयायी के लिए एक मील का पत्थर माना जाता है। इसके बाद। अब मुबश्शिर ने कराची के पड़ोस में लोगों को कुरान पढ़ाने और उसका प्रचार करना भी शुरू कर दिया है, जहां वह अपने बुजुर्ग पिता, बाबू मियां शकील अहमद शेख उर्फ छोटा शकील के साथ रहता है। छोटा शकील को दाऊद की ‘डी कंपनी’ का प्रमुख कर्ताधर्ता माना जाता है। हाफिज बनकर मुबश्शिर खुदा की पाक राह पकड़ने की खबर से मुंबई तक में लोगों को झटका लिया है।

आपको बता दें की पहले दाऊद के बेटे मोइन इस्लाम में मौलाना बन गया था, जिसके  कुछ समय बाद ही छोटे शकील के बेटे ने हाफजा पूरा किया है। अब यह साफ मालूम होता है कि दोनों अपने पिताओं की तरह गलत और आंतक के रास्ते से दूर हो गए हैं और दोनों ने आतंकी गतिविधियों को अस्वीकार किया है। इसलिए दाऊद इब्राहिम और छोटा शकील से जुड़े लोगों के लिए यह एक झटका जैसा है।  इसके साथ ही सवाल उठता है कि अंडरवर्ल्ड डॉन और उनके सहयोगियों के द्वारा खड़े विशाल अपराधिक साम्राज्यों का वारिस कौन होगा।  बता दें कि छोटा शकील के दो बेटियां अनम और जोया का भी कराची में ही डॉक्टरों के साथ निकाह हुआ है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram