पत्रकारों का हत्यारा मिला, गौरी लंकेश हत्या मामले में हुआ बड़ा खुलासा

गौरी लंकेश की हत्या के मामले की जांच कर रही विशेष जांच एजेंसी (एसआईटी) का कहना है कि, उत्तरी कर्नाटक के विजयपुरा जिले से पकड़े गए परशुराम वाघमारे ने ही गौरी की हत्या को अंजाम दिया था।

एसआईटी सूत्रों से मिली जानकारी से यह पता चला है की, वाघमारे ने एक बयान किया है, जिसमें उसने कहा है की, ‘मुझे मई 2017 में कहा गया था कि, धर्म बचाने के लिए मुझे किसी की हत्या करनी होगी। वाघमारे ने कहा कि, उसे 3 सितंबर 2017 को बंगलूरू लाया गया था। बेलगाव में मुझे एयरगन चलाने की ट्रेनिंग दी गई थी। इसके बाद मुझे उसके घर ले जाया गया। करीब 2 – 3 दिनों तक मै उनके पीछे था। तीसरे दिन की शाम को दोबारा मुझे फिर वहीं ले जाया गया जहां पहले ले जाया गया था। मुझे कहा गया कि, आज काम खत्म करना है। मगर वो काम से लौट आई थीं और घर के अंदर थी। वाघमारे ने आगे कहा, 5 सितंबर को मुझे शाम के 4 बजे बाइकर द्वारा मुझे बंदूक दी गई और हम उसके घर चले गए। हम जब वहां पहुंचे तब गौरी ने घर के दरवाजे के सामने अपनी गाड़ी रोकी और वह उसके दरवाजे को अंदर से खोल रही थी। मैं धीरे से खांसा और वह मेरी तरफ मुड़ गई। इसके बाद मैंने उसे चार गोलियां मार दीं। हम कमरे में वापस आए और उसी रात शहर छोड़कर चले गए।’ अब मुझे लगता है कि, उस महिला को नहीं मारना चाहिए था।’ एसआईटी का कहना है कि, कम से कम 3 लोग विभिन्न समय पर बंगलूरू में वाघमारे के साथ मौजूद थे। एक जो उसे बंगलूरू लाया, दूसरा जो उसे हत्या वाले दिन गौरी के घर ले गया और तीसरा जो 4 सितंबर को वाघमारे को गौरी के घर ले गया। इन सभी को अभी पकड़ा जाना बाकी है।

एसआईटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह भी कहा कि, गौरी और तर्कवादी एवं अंधविश्वास विरोधी गोविंद पानसरे तथा एम एम कलबुर्गी को गोली मारने के लिए एक ही हथियार का इस्तेमाल किया गया। नाम उजागर न करने की शर्त पर एसआईटी के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘वाघमारे ने गौरी को गोली मारी और फॉरेंसिक जांच से पुष्टि होती है कि, गोविंद पानसरे, एमएम कलबुर्गी और गौरी की हत्या एक ही हथियार से की गई।’ अधिकारी ने बताया कि, हिंदू दक्षिणपंथी समूहों के लोगों को शामिल कर बनाए गए इस संगठन में 60 सदस्य हैं, जो मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा और कर्नाटक इन 5 राज्यों में फैले हुए हैं, लेकिन इस संगठन का कोई नाम नहीं है। बता दे की, परशुराम वाघमारे गौरी लंकेश की हत्या के संबंध में गिरफ्तार किए गए 6 संदिग्धों में से एक है। कर्नाटक पुलिस ने हाल ही में भगवान की हत्या की साजिश का खुलासा किया था, साथ ही इनसे बरामद किए गए डायरी में फिल्म एवं रंगमंच हस्ती गिरीश कर्नाड के अलावा कई साहित्यकार और तर्कवादी शामिल थे। अब इन गिर‍फ्तार किए गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही है और इस समय तो ऐसा लग रहा है कि, कोई बड़ा खुलासा अभी भी होने को है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram