पुलिसकर्मियों की लापरवाही से, औरत ने खुद को और अपने बच्चे को आग के हवाले किया

आज जहां हमारे देश में नारी सशक्तिकरण को लेकर तवज्जो दी आ रही है तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो नारी सशक्तिकरण के नाम पर नारी से ही बदसलूकी करने की बात करते हैं। यूं तो हमारे देश में लड़कियों को कन्या माता दुर्गा ना जाने किस-किस अवतार में देखा जाता है, लेकिन इसी कन्या स्वरूपी माता को लोग अब अपनी घिनौनी नजरों से हवस का शिकार बनाने लगे हैं। हम यह बात इसलिए कर रहे हैं क्योंकि अब आए दिन लड़कियों के साथ यौन शोषण बलात्कार हत्या इन सबकी खबर सुर्खियों पर है। इसी कड़ी में अब उत्तर प्रदेश प्रदेश के शाहजहांपुर में गैंगरेप के बाद गुरुवार को औरत ने खुद को और अपने 12 साल के बेटे को आप के हवाले कर दिया।

औरत के साथ दो बार रेप करने के बाद भी पुलिस ने FIR नहीं दर्ज की-

शाहजहांपुर की यह औरत अपने पति और अपने 12 साल के बेटे के साथ रहती थी। उसी गांव के तीन लफंगों ने औरत के साथ 6 महीने पहले गैंगरेप किया, बाद में पीड़िता को कुछ भी बताने से धमकाया, बदमाशों ने कहा कि अगर वह किसी से भी कुछ भी बोलती है तो वह उसके बेटे को मार डालेंगे। एक महीने बाद महिला ने अपने पति को पूरी घटना बताई और वे पुलिस स्टेशन गए, लेकिन वहां से मायूस लौटना पड़ा। उसके बाद 18 अगस्त को उन्हीं बदमाशों ने पीड़िता के साथ दोबारा रेप किया और जब पीड़िता अपने साथ हुए इस दुष्कर्म के लिए  FIR दर्ज कराने गई तब पुलिसकर्मियों ने उसे मामला रफा-दफा करने के लिए कहा। अपनी हालत से परेशान पीड़िता ने खुद को और अपने बेटे को आप के हवाले कर दिया। उसका बेटा करीब 15 प्रतिशत जल गया और उसकी हालत स्थित है। मरते वक्त महिला ने कहा कि पुलिस ने उसकी शिकायत दर्ज करने से इनकार कर दिया और उसी शख्स ने 18 अगस्त को दोबारा उसका बलात्कार किया। उसके पति ने बताया कि जब उसकी पत्नी ने आग लगाई तो वह घर पर नहीं थी। पीड़िता का परिवार पिछले एक महीने से स्थानीय पुलिस थाने में गांव के तीन लोगों के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराने की कोशिश कर रहा था लेकिन कुछ बात नहीं बनी।

अब इस मामले को लेकर तीन पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर आपराधिक मामला दर्ज कर लिया गया है। दूसरी ओर शाहजहांपुर के एसपी शिवासिंपी चनप्पा ने कहा, “एक सरकारी अफसर ने उसका बयान रिकॉर्ड किया। महिला के पति ने एफआईआर दर्ज कराई है और एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया है। मरते वक्त महिला ने जो बयान दिया, उसके आधार पर हम आगे कदम उठाएंगे।” उन्होंने कहा कि एचएचओ और दो सब इंस्पेक्टर्स पर भी मुकदमा दर्ज किया गया है क्योंकि उन्हें मामले के बारे में पता था, लेकिन उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram