मुजफ्फरपुर शेल्टर होम के संचालक बृजेश ठाकुर के ठिकानों से मिले तीन बक्से बक्सों में मिले कंडोम और शक्तिवर्धक दवाएं

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में बच्चों के साथ हुए यौन उत्पीड़न के मामले में सीबीआई ने अपनी जांच शुरू कर दी है। हाल में ही सीबीआई की टीम ने मंजू वर्मा और बृजेश ठाकुर के ठिकानों पर छापेमारी की है। छापेमारी के दौरान मंजू वर्मा से पूछताछ भी की गई और बृजेश ठाकुर के मित्रों और परिजनों के 7 ठिकानों पर तलाशी की गई थी। वहीं बृजेश ठाकुर के बिहार म्यूजियम स्थित, अखबार प्रातः कमल के ऑफिस में भी रेड मारी गई थी। ऑफिस का नजारा देख सीबीआई भी दंग रह गई थी।

अखबार ऑफिस से मिले कंडोम भरे बक्से-

सीबीआई ने शुक्रवार को बृजेश ठाकुर के पटना के बिहार म्यूजियम स्थित अखबार प्रातः कमल के ऑफिस में छापा मारा तो यह पाया कि ऑफिस के सबसे ऊपर वाले फ्लोर पर एक आलीशान होटल के साइट की तरह सजाया गया है। उस फ्लोर  में महंगे फर्नीचर, सोफा, पलंग और मसाजर रखे गए थे। ठंड के दिनों में परेशानी न हो इसके लिए रूम हीटर की भी व्यवस्था की गई थी। सुइट के साथ वाले रूम में कपड़े रखे थे साथ ही एक किचन भी था। उसी फ्लोर से सीबीआई ने कोने में पड़े हुए तीन बक्से बरामद किए। दो बक्सों में जहां नए कंडोम रखे थे, वहीं एक बक्से में इस्तेमाल किये हुए। ये बक्सा लगभग इस्तेमाल किए गए कंडोम से भरा हुआ था।  सीबीआई को वहां से कई शक्तिवर्धक दवाएं भी मिली हैं।

यह सब मिलने के बाद अब बृजेश ठाकुर की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। यह साफ-साफ समझ में आ रहा है कि बृजेश ठाकुर ही मुख्य आरोपी है। बृजेश ठाकुर नहीं अपने द्वारा चलाए गए शेल्टर होम में गंदगी फैला रखी थी। वह छोटी-छोटी बच्चियों के साथ बलात्कार करता था। और बच्चियों को अपना शिकार बनाने के लिए इस अखबार ऑफिस के ऊपर वाले फ्लोर पर अपने काम को अंजाम देने के लिए लाया करता था। अब देखना यह है कि बृजेश ठाकुर के ऊपर कितने मुकदमे लगते हैं और कोर्ट इस दरिंदे को क्या सजा देती है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram