मुजफ्फरपुर शेल्टर होम के मामले में नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने सफाई देते हुए कहा- ‘मेरा बृजेश ठाकुर से कोई संबंध नहीं’

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में बच्चों के साथ हुए यौन शोषण और बलात्कार के मामले में हाल में ही सीबीआई ने बृजेश ठाकुर और मंजू वर्मा के सभी ठिकानों पर रेड डाली थी। वहीं मंजू वर्मा ने अपना इस्तीफा भी दे दिया है। बृजेश ठाकुर के अखबार प्रातः कमल ऑफिस के ऊपर वाले मंजिलें से 3 बक्सों में से 2 बक्सों में नई कंडोम और एक बक्से में इस्तेमाल किए हुए कंडोम के साथ शक्ति वर्धक दवाएं भी बरामद हुई। वही कल देश ठाकुर की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई पेशी के दौरान बृजेश ठाकुर ने कहा कि मुझे जेल में जान का खतरा है। वहीं इस पूरे मामले को लेकर विपक्ष नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा को घेरे हुए है और विपक्ष सुरेश शर्मा का इस्तीफा मांग रही है। 

 

तेजस्वी यादव ने बिहार के नगर विकास मंत्री का इस्तीफा मांगा-

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस में बिहार सरकार के एक और मंत्री के इस्तीफे की मांग की है। तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मैं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस दूसरे मंत्री को तुरंत पद से हटाने की मांग करता हूं जिनके मुजफ्फरपुर शेल्टर होम के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ गहरे संबंध हैं।’ तेजस्वी ने आगे लिखा, ‘बेहतर होगा कि नीतीश जी और सुशील मोदी इस मंत्री को तुरंत पद से हटा दें वरना हमें दोबारा एक और मंत्री को इस्तीफा देने के लिए मजबूर करना होगा। नहीं तेजस्वी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि  ‘अगर नीतीश कुमार और (उपमुख्यमंत्री व बीजेपी नेता) सुशील मोदी ने उनको बर्खास्त नहीं किया तो हम वैसे ही मामले में उनकी संलिप्तता उजागर करेंगे जैसे मंजू वर्मा के मामले में हमने किया।’

 

सुरेश शर्मा ने इस्तीफा देने से किया इनकार-

बिहार के नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने विपक्ष की बातों को गलत ठहराते हुए कहा कि मैं मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर को निजी तौर पर नहीं जानता दूर-दूर तक मेरा बृजेश ठाकुर से कोई नाता नहीं है। मुझ पर विपक्ष गलत आरोप लगा रही है और जबरन मुझे निशाने पर साध रही है। सुरेश शर्मा ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि मेरा नाम जबरदस्ती घसीटा जा रहा है। मेरा इस मामले से कोई संबंध नहीं है। शर्मा ने कहा कि इस मामले को लेकर तेजस्वी यादव जातिवाद की राजनीति कर रहें हैं। तेजस्वी के आरोपों पर पलटवार करते हुए शर्मा ने कहा कि खुद तेजस्वी यादव चार्ज शीटेड हैं तो वह क्यों राजनीति में बने हुए हैं। सुरेश शर्मा ने आगे कहा कि अगर मेरे उपर लगे आरोप सही साबित होंगे तो मुझे इस्तीफा से कोई आपत्ती नहीं है, लेकिन ब्रजेश ठाकुर से मेरा कोई संबंध नहीं है और उसे मैं दूर-दूर तक नहीं जानता हूं।

 

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम के मामले में राजनीति अपने खेल की चरम सीमा पर है। विपक्ष एक दूसरे पर आरोप लगाने से पीछे नहीं हट रही। वही हाल में ही समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने भी इस्तीफा दे दिया और इशारों ही इशारों में सुरेश वर्मा पर निशाना साधा जबकि तेजस्वी यादव ने तो सीधे-सीधे सुरेश शर्मा को आरोपी घोषित करते हुए इस्तीफे की मांग तक कर दी है। अब देखना यह है कि इस पूरे मुद्दे पर न्याय कब होता है या फिर खाली राजनीति ही खेली जाएगी।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram