आज जारी होगा CBSE 12वीं का रिजल्ट

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) का 12वीं का परिणाम आज घोषित किया जाएगा। छात्र आज दोपहर बाद अपना रिजल्ट देख पाएंगे। वहीं सीबीएसई बोर्ड की तरफ से दसवीं का रिजल्ट भी 30 मई तक घोषित किया जाएगा। मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा नियुक्त शिक्षा सचिव अनिल स्वरूप ने ट्विटर के माध्यम से यह जानकारी प्रदान की।

कितने परीक्षार्थी हुए थे शामिल-

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से आयोजित वर्ष 2018 की बोर्ड परीक्षा में लगभग 11.85 लाख विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। वहीं पिछले वर्ष आयोजित परीक्षा में लगभग 10.98 लाख विद्यार्थियों ने ही परीक्षा दी थी जिसमें से 82% छात्र ही उत्तीर्ण थे । साथ ही साथ बोर्ड ने बताया कि पिछली बार यह आंकड़ा 83 प्रतिशत था जो अब गिरकर 1 प्रतिशत और भी कम हो गया है।

कैसे करेंगे परिणाम की जानकारी-

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा घोषित परिणाम को छात्र बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट cbseresults.nic.in तथा cbse.nic.in पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं। इस बार 12वीं की परीक्षा में देशभर से कुल 11,86,306 छात्रों ने पंजीकरण कराया था। वहीं पिछले साल के मुकाबले इस बार छात्रों की संख्या में और भी इजाफा हुआ, जिसको देखते हुए cbse ने 4138 केंद्रों के माध्यम से परीक्षा संपन्न कराई।

पेपर लीक का मामला भी आया था सामने-

वैसे तो भारत की गिनी-चुनी परीक्षाओं को छोड़कर के सभी परीक्षाओं के पेपर लीक होने लगे हैं, तो CBSE भी इससे अछूता नहीं रहा, जिसके कारण इस बार CBSE के पेपर भी लीक हो गए। अर्थशास्त्र का पेपर लीक होने की वजह से दोबारा पेपर 25 अप्रैल को कराना पड़ा जिसके कारण परिणाम आने में देरी होने का अंदेशा था। लेकिन सही समय पर परिणाम लाकर, छात्रों को, आगे प्रवेश लेने की समस्याओं से, cbse ने मुक्त किया है।

कैसा था पिछले साल का परिणाम –

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद के द्वारा आयोजित परीक्षाओं में छात्रों का पिछले दो साल में परिणाम काफी असंतोषजनक रहा है। साल 2015 में जो परिणाम 83 प्रतिशत था। वह गिरकर 82 हो गया। और अब 2018 का परिणाम क्या होगा यह तो आज का दिन ही तय करेगा।

हेल्पलाईन नंबर से जुड़ने की करें कोशिश –

परीक्षा परिणामों की घोषणा के बाद कई छात्रों को असफलता भी मिलती है, जिसके कारण वह परेशान हो जाते हैं और आत्मघाती कदम उठाने पर आमादा हो जाते हैं। पिछले साल बोर्ड ने परीक्षा परिणामों के तुरंत बाद हेल्पलाइन नंबर जारी किए थे, जिससे मनोविशेषज्ञ सुबह 8:00 बजे से रात 10:00 बजे तक सभी छात्रों से एवं उनके अभिभावकों से बात करने के लिए उपस्थित थे। इस साल भी अभिभावक अपने बच्चों पर नजर रखें और उनके साथ रहें और बोर्ड के द्वारा जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर का उपयोग कर उनसे परामर्श लें।

जहां पिछली बार प्रथम एवं द्वितीय स्थान पर लड़कियों ने कब्जा जमाया था तो तीसरे स्थान पर लड़के ने जगह बनाई थी। अब देखना यह है कि आने वाले समय में बेटियां ही परचम लहराती हैं या बेटे भी कुछ नया करने की फिराक में हैं यह तो कल ही पता चलेगा।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram