कैट में बिहार के मयंक राज 100 परसेंटाइल के साथ टॉप ट्वेंटी में

कोई भी क्षेत्र हो बिहारी प्रतिभा की धमक वहाँ होती ही है, इस बात से इत्तेफाक हर कोई रखता है। कल सोमवार जारी हुए देश के शीर्ष प्रबंधन संस्थानों में प्रवेश परीक्षा के लिए आयेजित कॉमन एडमिशन टेस्ट (CAT) 2017 के नतीजों से भी यह साबित हुआ। बिहार के मयंक राज सहित देश के विभिन्न हिस्सों से अन्य 19 अभ्यर्थियों ने 100 परसेंटाइल प्राप्त किया है। बिहार के सिद्धार्थ को ही 99.75 परसेंटाइल एवं निहाल को 98.37 परसेंटाइल प्राप्त हुए है।

कैट के इस बार हुए 26 नवंबर को आयोजित परीक्षा में देश से कुल 1,99,632 अभ्यर्थी शामिल हुए जिनके नतीजे पिछले साल से काफी भिन्न है, जहां पिछली बार 100 परसेंटाइल प्राप्त करने वाले सभी इंजीनियरिंग क्षेत्र के पुरुष अभ्यर्थी थे वहीँ इस बार महिला एवं गैर-इंजीनियरिंग क्षेत्र के अभ्यर्थियों के लिए काफी बेहतर रहा है। इस बार दो महिला अभ्यर्थियों सहित तीन गैर-इंजीनियरिंग क्षेत्र के अभ्यर्थियों ने शीर्ष सूची में स्थान जगह बनायी है। इस बार शीर्ष सूची में मुम्बई के कोचिंग शिक्षक पैट्रिक डिसूजा का भी नाम है। ज्ञात हो कि पैट्रिक 14 बार कैट की परीक्षा में शामिल हो चुके है। अभ्यार्थियों को नतीजे एसएमएस के माध्यम से भेज दिए गए है।

100 परसेंटाइल प्राप्त करने वाले मयंक राज मूल रूप से बिहार के वैशाली जिले के भगवानपुर खजूरी गांव के है। मयंक वर्तमान में मुम्बई IIT के छात्र है। अपने शिक्षक माता-पिता दोनों से ही उन्हें हमेशा प्रोत्साहन मिला। उनकी प्रारंभिक शिक्षा हाजीपुर स्थित इंडियन पब्लिक स्कूल से हुई वहीं उन्होंने अपनी ग्यारहवी एवं बारहवीं की पढ़ाई दिल्ली से होस्टल में रह कर की। वर्तमान में उनका परिवार हाजीपुर के युसुफपुर में रहता है।

वर्तमान में देश में 20 IIM है जिनमे लगभग 4000 सीट होते है। कैट में बेहतर प्रदर्शन करने वाले अभ्यर्थियों को IIM में एडमिशन प्रक्रिया में शामिल होने का मौका मिलेगा। नतीजे आने के उपरांत सभी IIM की तरफ से नतीजों के आधार पर अभ्यार्थियों को प्रवेश प्रक्रिया के अगले चरण में शामिल होने के लिए बुलाया जाएगा। IIM की लगभग 4000 सीटों पर दाखिले की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। कैट के स्कोर के आधार IIM के अलावे करीब 100 अन्य संस्थानों में अभ्यार्थियों का एडमिशन लिया जाता है। इस बार कैट की परीक्षा IIM लखनऊ ने आयोजित की थी।

पटना बुद्धा कॉलोनी में रह कर तैयारी करने वाले सिद्धार्थ कुमार जो कि पेशे से मैकेनिकल इंजीनियर है ने  को 99.75 परसेंटाइल प्राप्त किया है। एक साल से अधिक समय के नौकरी का अनुभवी सिद्धार्थ पिछले साल से ही पटना में रहकर इस प्रतियोगि परीक्षा की तैयारी कर रहे थे।

अपनी पढ़ाई पूर्ण करने के उपरांत सिद्धार्थ ने एक साल से अधिक समय के लिए जॉब भी किया है। वो पिछले साल से कैट की तैयारी पटना रहकर ही कर रहे थे। सिद्धार्थ का परिवार मूलतः नवादा जिले के निवासी है। उनके बैंकर पिता ने उन्हें हमेशा ही प्रोत्साहित किया एवं उनके हर निर्णय में उनका साथ दिया।

अभ्यर्थी www.iimcat.ac.in पर भी अपने नतीजे देख सकते है हालांकि अभ्यार्थियों को एसएमएस के माध्यम से नतीजे भेजे जा चुके है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram