गुरु का तबादला रोकने के लिए, छात्रों का उमड़ा सागर, देखा है पहले कभी ऐसा नजारा?

इस फोटो में दिखाई दे रहा, छात्रों से घिरा हुआ एक साधारण सा आदमी, एक शिक्षक है। यह नजारा तिरुवल्लूर के वेलीगरम स्थित सरकारी हाई स्कूल का है और यह शिक्षक है इस पाठशाला में अंग्रेजी की शिक्षा देने वाले जी.भगवान। आप चौंक गये होंगे की, सब इतने रो क्यों रहे है और जी. भगवान के पास छात्रों का इतना जमावड़ा क्यों है, तो आपको बता दें की, जी. भगवान को वेलीगरम से अरुंगुलम (तिरुट्टानी) के लिए तबादले के आदेश आया हैं और जैसे ही छात्रों को ये जानकारी हुई कि, उनका तबादला कर दिया गया है, पाठशाला के सभी बच्चे गुस्से से भर गए और इस आदेश का विरोध करने अपने प्यारे शिक्षक की ओर दौड़ पड़े, कोई उनसे लिपट गया, किसी ने उनके पैरों को पकड़ा, तो बहुत से छात्रों ने उन्हें चारों तरफ से घेर लिया। इतना ही नही शिक्षक जी भगवान का तबादला रोकने के लिए छात्र स्कूल में ही धरने पर बैठ गए। छात्रों ने साफ कर दिया कि, अगर जी भगवान का तबादला नहीं रुका तो वो स्कूल नहीं जाएंगे। इसके साथ अभिभावकों ने साफ कर दिया कि, वे भी अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजेंगे। इसके चलते फिलहाल शिक्षक जी भगवान के तबादले को 10 दिन के लिए रोक दिया गया है।

इस घटना के बारे में इस पाठशाला के हेडमास्टर ने बताया कि, जी. भगवान और बच्चों के बीच बिल्कुल मां-बाप जैसा ही रिश्ता बन गया है। इसीलिए जब उनके तबादले का पता चला तो सबकी आंखों में आंसू थे। इससे पहले भी स्कूल से कई अध्यापकों का तबादला हुआ लेकिन छात्रों ने कभी किसी टीचर के लिए इतना अपनापन महसूस नहीं किया। उनका कहना है कि, पहले कई छात्र अंग्रेजी में काफी कमजोर थे, लेकिन जी भगवान ने ऐसे बच्चों का काफी सपोर्ट किया और उन्हें उचित मार्गदर्शन दिया, जिसकी वजह से आज उनकी अंग्रेजी में काफी हद तक सुधार आया है। सुबह-शाम हर वक्त वो बच्चों के लिए उपलब्ध रहते हैं। यही कारण है कि, बच्चे आज उनके तबादले की खबर से काफी दुखी हो गए और उनसे लिपटकर रोने लगे।

जी. भगवान कहते हैं कि, किसी स्कूल में उनकी ये पहली नौकरी है। 2014 में वेलियाग्राम के इस सरकारी पाठशाला में अंग्रेजी शिक्षक के रूप में उनकी तैनाती की गई थी। यहां कक्षा 6 से लेकर कक्षा 10 तक वो अंग्रेजी पढ़ाते थे। भगवान ने कहा- ”वो मेरे गले लग रहे थे। मेरे पैर छू रहे थे। मुझे जाने से रोक रहे थे। जिसको देखकर मैं भावुक हो गया। जिसके बाद मैं उन्हें हॉल में ले गया और कहा कि, मैं कुछ दिन में आ जाऊंगा।” छात्रों का कहना है कि, जी भगवान शिक्षा के महत्व को बहुत अच्छी तरह समझते हैं और वह उन्हें काफी ताकद प्रदान करते है। वर्तमान में जब सरकारी स्कूलों की हालत बहुत खराब हो रही है, तो आज समाज को ऐसे ही शिक्षकों की जरूरत है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram