दिल्ली सरकार ने 12 फर्जी शिक्षा बोर्डों की सूची जारी की

देश की राजधानी दिल्ली सिर्फ सफेदपोशों को ही नहीं बल्कि जालसाजों की भी पहली पसंद है। बीते सप्ताह 24 अप्रैल को ही विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा जारी जारी सूची में कुल 24 फर्जी विश्वविद्यालयों में से 8 दिल्ली ही आधरित थी, इसके बाद दिल्ली गवर्नमेंट द्वारा 12 फर्जी शिक्षा बोर्डो की सूची जारी की गई है। दिल्ली में फर्जी विश्वविद्यालयों के बार फर्जी शिक्षा बोर्डो का खुलासा यह दर्शाता है कि देश की राजधानी जैसे संवेदनशील क्षेत्रो में भी जालसाज सरकार के नाक के नीचे से अपना काम कर रहे है।

इस सूची के अनुसार, तीन बोर्ड सीबीएसई (CBSE), आईसीएसई (ICSE) नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (NIOS) ही प्रामाणिक बोर्ड है। इसके अलावा अन्य सक्रिय बोर्डो में दिल्ली माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, उर्दु शिक्षा बोर्ड आदि फर्जी है। साथ ही सरकार ने यह भी स्पष्ट किया की एडल्ट एजुकेशन एंड ट्रेनिंग’ बोर्ड की उनसे कोई संबद्धता नहीं है।

दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में चल रहे फर्जी शिक्षा बोर्डों के खिलाफ माता-पिता और छात्रों को चेतावनी के साथ-साथ वैध तीन प्रासंगिक बोर्डो के बारे में जानकारी भी दी है।

विभाग ने स्पष्ट किया कि दिल्ली सरकार का कोई राज्य बोर्ड नहीं है साथ ही यह भी जानकारी दी कि दिल्ली में सरकार, निजी, अवैतनिक और सहायता प्राप्त स्कूलों को नियंत्रित करने वाले डीओई किसी भी बोर्ड को कोई मान्यता नहीं देते हैं।

शिक्षा निदेशालय (DoE) ने दिल्ली में 12 फर्जी बोर्डों की बनाई सूची इस प्रकार है:-

◆ उर्दू शिक्षा बोर्ड,

◆ ग्रामीण मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान,

◆ दिल्ली माध्यमिक शिक्षा बोर्ड,

◆ केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड,

◆ राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय और

◆ माध्यमिक ओपन शिक्षा बोर्ड, दिल्ली।

◆ दिल्ली के उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड,

◆ वरिष्ठ माध्यमिक खुली शिक्षा परिषद,

◆ दिल्ली माध्यमिक शिक्षा बोर्ड,

◆ उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, दिल्ली,

◆ माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद, दिल्ली

◆ केंद्रीय शिक्षा बोर्ड, दिल्ली

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram