नलकूप चालक भर्ती परीक्षा में बवाल

आज के समय में मुन्ना भाई जैसे माफिया ना जाने कितने बड़े स्तर पर सक्रिय हैं कि उनके द्वारा बड़ी से बड़ी परीक्षा का पेपर भी लीक किया जा रहा है और पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है। पेपर लीक को रोकने के लिए ना तो पुलिस के पास कोई ठोस व्यवस्था है और ना ही ऐसी कोई युक्ति है जिसके द्वारा पेपर लीक के समस्या का समाधान किया जा सके वही लखनऊ में पहुंचे अभ्यर्थियों ने जब पेपर लीक मामले की बात सुनी तो वह आक्रोशित हो उठे और उन्होंने जमकर धरना प्रदर्शन किया।

एसटीएफ ने की गिरफ्तारी –

ने की गिरफ्तारी –

उत्तर प्रदेश में 3210  पदों पर होने वाली नलकूप चालक भर्ती परीक्षा को रद्द कर दिया गया है, सब बढ़िया क्योंकि कल देर रात पता लगा था कि नलकूप चालक भर्ती की परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक हो गया है और एसटीएफ ने इस मामले में लगभग 11 लोगों को गिरफ्तार भी किया है जिनके पास से पुलिस को कई स्मार्टफोन और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स बरामद हुए हैं। वहीं पुलिस को छापेमारी और गिरफ्तारी के दौरान एक बड़ी मोटी रकम लगभग 15 लाख रुपए भी बरामद हुए हैं। नलकूप चालक भर्ती परीक्षा रद्द होने के बाद पेपर में शामिल होने के लिए विभिन्न जिलों में पहुंचे अभ्यर्थियों ने जमकर बवाल काटा और इसी बवाल के बीच जब अभ्यर्थियों ने लखनऊ में धरना प्रदर्शन किया तो वहां पर सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस को तैनात कर दिया गया।

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने कल रात मेरठ में पेपर लीक होने के बाद नलकूप चालक भर्ती परीक्षा को रद्द कर दिया था, लेकिन अभ्यर्थी परीक्षा केंद्रों के लिए रवाना हो चुके थे, और परीक्षा केंद्र जिन शहरों में बनाए गए थे, वहां अभ्यर्थी पहले से ही पहुंच गए थे, जिसके बाद भर्ती परीक्षा रद्द होने का मामला जब अभ्यर्थियों ने सुना तो उन्होंने बवाल काटना शुरु कर दिया। 3210 पदों पर होने वाली भर्ती प्रक्रिया के लिए लगभग 200000 से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था जो उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों में आयोजित होने वाली थी। वहीं इससे पहले ही पेपर लीक का मामला सामने आ गया।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram