प्राचार्च की नाकामी या शिक्षा व्यवस्था में चुक

एसएस बालिका +2  से गायब 42,400 कोपियौं के मामले में, उस विद्यालय के प्राचार्च प्रमोद श्रीवास्तव से कमिटी के सदस्यों ने गहन पूछताछ की, प्राचार्च के तरफ से संतोषजनक जवाब नहीं मिलने के कारण उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया| 15 जून को एसएस बालिका +2 विद्यालय से नवादा जिले की आई मेट्रिक मूल्यांकन की 42,400 कॉपियों के गायब होने का मामला सामने आया| प्राचार्च श्री श्रीवास्तव ने 17 जून को नगर थाना में इसके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराया| उसके बाद 19 जून को हुई पूछताछ के बाद प्राचार्च को जेल भेज दिया गया|

प्रशासन और एसआईटी के अनुसन्धान के प्रथम दृष्य प्राचार्च की संलिप्ता पाई गई है, इस मामले में एसआईटी की टीम ने आदेशपाल छठू सिंह एवं रात्रिप्रहरी आसपुरण सिंह को भी नामजद किया है, जिसके बाद उन्हें ससपेंड कर दिया गया|

बोर्ड अध्यक्ष ने क्या कहा-

देर शाम आई मैट्रिक रिजल्ट आने के बाद 42,400 कॉपियों के मामले में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए बिहार बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा की जल्द हिं बोर्ड की बैठक कर अहम् निर्णय लिया जाएगा| कॉपियों के गायब होने से रिजल्ट पर कोई असर नही परा है क्यूंकि रिजल्ट उससे पहले तैयार हो गया था| उन्होंने ये भी कहा की अगर कोई आवेदन आएगा तो उसका भी निपटारा किया जाएगा|

वहीँ गोपालगंज के डीएम से हुई बातचीत में पत्रकारों को कहा की जाँच कमिटी की रिपोर्ट आने के बाद सबको ससपेंड किया जाएगा| आपको बताते चले की जाँच कमिटी की नजर में उस विद्यालय के कई कर्मी और शिक्षक भी है|

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram