सीबीएसई ने छात्रों के व्यक्तिगत विवरण में सुधार के नियम में किया संशोधन, समयावधि बढ़ाकर किया 5 वर्ष

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) स्कूलों के छात्र अपने बोर्ड परीक्षा परिणामों की घोषणा से पांच साल के अंदर अपने नाम, जन्म तिथि, माता-पिता के नाम में सुधार के लिए आवेदन कर सकते हैं। सीबीएसई ने विज्ञप्ति जारी कर उम्मीदवार, माता और पिता के नाम तथा जन्मतिथि में सुधार के मामलों की सीमाओं में संशोधन की सूचना दी। संशोधित समय सीमा परिणाम घोषित होने की तारीख अब 5 वर्षो की होगी और साथ ही सभी मामलों पर लागू होगी। दसवी और बारहवीं वर्ग के छात्र जिन्होंने वर्ष 2015 में परीक्षा दी थी, वो भी अपने व्यक्तिगत विवरणों में सुधार करवा सकते है।

बोर्ड के इस संशोधित नियम से वर्तमान छात्रों के साथ ही वैसे छात्रों को भी लाभ मिलेगा जिन्होंने सीबीएसई के क्षेत्रीय कार्यालयों और मुख्यालयों के साथ-साथ विभिन्न अदालतों के माध्यम से सुधार के लिए प्रयासरत थे। बोर्ड से संबंद्धता प्राप्त 18000 विद्यालय भी लाभान्वित होगी।

ज्ञात हों की,फरवरी 2015 में बोर्ड ने प्रमाण पत्र में अपने व्यक्तिगत विवरण में सुधार की मांग करने के लिए छात्रों को एक साल की समय सीमा तय की थी। उस से पूर्व छात्रों के व्यक्तिगत विवरण में सुधार के लिए कोई समय सीमा की बाध्यता नही थी। हालांकि समय की बाध्यता के कारण सीबीएसई में परीक्षा परिणाम के पश्चात व्यक्तिगत विवरण में सुधार करवाने वालो आवेदकों की काफी संख्या आती थी। इस कदम से सीबीएसई को भी राहत मिलेगी।

अब इस संशोधित नियम से छात्र बोर्ड के परिणाम की घोषणा से पांच साल के भीतर सही नाम और अन्य विवरण के साथ नए प्रमाण पत्र जारी करने के लिए आवेदन कर सकते है।
Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram