AIIMS में एडमिशन लेकर कचरा बीनने वाले के लड़के ने कमाल कर दिया, जानिए किस तरह….

आशाराम चौधरी बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं। पहले ही प्रयास में एम्स की प्रवेश परीक्षा में उन्होंने कमाल कर दिखाया।

रविवार को ‘मन की बात’ में मध्य प्रदेश के आशाराम चौधरी ने स्वं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से तारीफें बटोरी। जैसे कि हमने आपको बताया दोस्तो की आशाराम चौधरी ने पहले ही प्रयास में AIIMS की प्रवेश परीक्षा में सफलता हासिल की है और अब वे एमबीबीएस के प्रथम वर्ष के छात्र बनने जा रहे हैं। पीएम मोदी ने आशाराम की तारीफों में कहा कि उन्हें पता चला कि किस तरह मप्र के अत्यंत गरीब परिवार से आने वाले आशाराम ने कड़ी मेहनत के बाद सफलता हासिल की। विपरीत परिस्थितियों में सफलता पाने वाले आशाराम युवाओं के लिए प्रेरणा हैं। आशाराम ने जीवन की मुश्किल चुनौतियों को पार करते हुए सफलता प्राप्त की है. वे उनकी सफलता पर उन्हें बधाई देते हैं।
आशाराम ने एम्स की प्रवेश परीक्षा अपने पहले ही प्रयास में पास कर के 23 जुलाई दाखिला ले लिया था। एम्स (जोधपुर) निदेशक संजीव मिश्रा ने अपनी पूरी टीम के साथ आशाराम को बधाई दी और संस्थान से सभी तरह के सहयोग का आश्वासन दिया।

आशाराम ने अपनी पढ़ाई सरकारी स्कूल से की है। आशाराम छठी में जवाहर नवोदय विद्यालय चंद्रकेशर में चले गए थे।यहां दसवीं तक पढ़ाई करने के बाद नि:शुल्क आवासीय स्कूल दक्षिणा फाउंडेशन पुणे की प्रवेश परीक्षा दी। आशाराम चुने गए और 11वीं-12वीं की परीक्षा उन्होंने यहीं से अच्छे अंकों के साथ पास की। जिसके बाद आशाराम मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी में लगे रहे और फिर उन्होंने इसी साल मई में एम्स की प्रवेश परीक्षा पास की। वे बेहद होनहार छात्र हैं। 

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram