बॉलीवुड की ‘सस्पेंस फिल्मो’ की सफलता का राज

प्रतिस्पर्धा के इस दौर में कोई भी क्षेत्र इस से अछूता नहीं है, तो फिल्म उद्योग में भला प्रतिस्पर्धा ना हो यह बात थोड़ी अजीब होगी। जी हां हम बात कर रहे हैं भारतीय मनोरंजन उद्योग ‘बॉलीवुड’ की, यहाँ प्रतिस्पर्धा का यह आलम होता है कि समान विषय तो ठीक है बल्कि एक ही विषय पर 3-4 फिल्मकार फिल्मे बनाते है। दर्शकों को क्या पसंद आएगा? सारे फिल्मकार इसी सवाल का जवाब ढूंढते रहते है। अभी तक के सफर में देखा जाय तो एक विषय जो लगभग हर दौर में फिल्मकारों के लिए लाभकारी रहा है वह है ‘सस्पेंस थ्रिलर’। भारतीय दर्शकों को सस्पेंस थ्रिलर पसंद आता है।
आज के इस दौर में दर्शकों को लगातार स्क्रीन से जोड़े रहने में बहुत सारी मेहनत, “स्क्रिप्ट राइटर” के द्वारा की जाती है। इसी सिलसिले में बॉलीवुड में ऐसी कहानियां गढ़ी जाने लगीं, जो दर्शकों को फिल्म के दौरान तो बांधे ही रहती हैं साथ ही कहानी को खत्म होने के बाद भी दर्शक उस फिल्म की कहानी से निकल नहीं पाता है। दरअसल इसके पीछे का कारण सस्पेंस वाली फिल्म की कहानियों का है ।सस्पेंस और थ्रिलर प्रकार की फिल्मों की शुरुआत लगभग 1960 के बाद शुरू हुई है । 1962 में आई फिल्म “बीस साल बाद”, 1965 में आई “गुमनाम” जैसी फिल्मों ने बॉलीवुड को उस समय के हिसाब से अच्छी कमाई करवाई थी जिसके बाद से तो बॉलीवुड में ऐसी फिल्मों की बाढ़ सी आ गई ।

तो चलिए जानते हैं बॉलीवुड के टॉप 10 थ्रिलर फिल्मों के बारे में

1. कहानी –

2012 में आई यह फिल्म काफी हिट रही। संजय घोष के निर्देशन में बनी इस फिल्म में विद्या बालन ने एक गर्भवती महिला का किरदार निभाया। जो लंदन से कोलकाता अपने लापता हुए पति को ढूंढने आती है।

2.मनोरमा सिक्स फीट अंडर- 

इस फिल्म में अभय देओल द्वारा जबर्दस्त अभिनय किया गया है। सारिका और विनय पाठक आदि कलाकारों ने भी इसमें अच्छा रोल प्ले किया। यह फिल्म एक हत्या के ऊपर बनी है, जो बहुत उल्झी हुई कहानी है।

3.समय –

2003 में आई यह फिल्म सुशांत सिंह और सुष्मिता सेन स्टारिंग के साथ, “रोबी गिरवल”, के निर्देशन में बनी है। इसमें कातिल को ढूंढने के लिए सुष्मिता सेन को बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

4. स्पेशल 26 – 

भारत देश में ठगों का गिरोह चरम पर है। 2013 में ऐसी ही मुद्दों पर एक फिल्म बनी। नीरज पांडे के निर्देशन में अनुपम खेर, मनोज वाजपेई और अक्षय कुमार को लेकर बनी, यह फिल्म बॉलीवुड बॉक्स ऑफिस पर अच्छी खासी कमाई की।

5. तलाश –

2012 में रीमा कागती द्वारा लिखित और निर्देशित यह एक संस्पेंश थ्रिलर फिल्म है। जिसमें एक मर्डर मिस्ट्री को सुलझाने का प्रयास किया गया है। इसमें आमिर खान, राजकुमार राव, रानी मुखर्जी, और करीना कपूर लीड रोल में हैं।

6. कार्तिक कॉलिंग कार्तिक –

Reliance इंटरटेनमेंट के बैनर तले बनी इस फिल्म के निर्माता फरहान अख्तर व रितेश सिधवानी है , जिसमें दीपिका पादुकोण और फरहान अख्तर मुख्य भूमिका में हैं । फरहान बहुत गुणी होते हुए भी एक कंस्ट्रक्शन कंपनी में, आम नौकरी करता है। एक दिन वह आत्महत्या करने वाला था कि उसी के नाम के एक शख्स की उसके पास कॉल आती है, और वह कहता है कि वह उसकी मदद कर सकता है, जिसके बाद फरहान, आत्महत्या की बात को भूल कर, जिंदगी की नई शुरुआत करता है।

7.दृश्यम-

शशिकांत कामत द्वारा निर्देशित एवं अजय देवगन स्टारिंग यह फिल्म थ्रिलर फिल्मों में, अच्छी गिनी जाती है। ब्लैकमेलिंग से लेकर मर्डर मिस्ट्री तक को सुलझाने तक को इसमें बखूबी दिखाया गया है।

8. A Wednesday –

प्रेरणादायक और संसपेंश वाली फिल्मों में एक और फिल्म अनुपम खेर, नसरुद्दीन शाह, जिमी शेरगिल को लेकर बनाई गई है । इसमें मुंबई में, 4 घंटों में चार अलग अलग स्थानों को बम से तबाह करने की बात एक अनजान कॉल से बताई जाती है।इसने बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई की ।

9.UGLY – 

कांस फिल्म महोत्सव – 2013 में प्रदर्शित होने के बाद 2014 को इसे सिनेमाघरों में रिलीज किया गया था।  4:30 करोड़ बजट की इस फिल्म ने करीब 2 से तीन करोड़ रुपए का फायदा कमाया । अनुराग कश्यप द्वारा निर्देशित फिल्म रोनित रॉय और राहुल भट्ट के जबर्दस्त एक्टिंग से अच्छी साबित हुई। इसमें एक बच्ची की अनजाने से किडनैपिंग हो जाती है जिसके बाद में उस बच्ची को किडनैपर द्वारा एक पार्किंग में छोड़ दिया जाता है जहां पर तेज बारिश के कारण उसकी मौत हो जाती है।

10. इत्तेफाक-

यह मिस्ट्री थ्रिलर फिल्म है जो 2017 में बनी है। जिसमें, संजय खन्ना, सिद्धार्थ मल्होत्रा और सोनाक्षी सिन्हा लीड रोल में है इसमें डबल मर्डर को सुलझाने के ऊपर फिल्मांकन किया गया है ।

संस्पेंश फिल्मों के निर्माण के पीछे का कारण –

इस प्रकार की फिल्मों का निर्माण बहुत किया जा रहा है, क्योंकि आज हर कोई एक सीधे रूप में बनी फिल्म देखना पसंद नहीं करता है । वही रोमांचक तरीकों से बनी फिल्में दर्शकों को बांधे रखती हैं। और ऐसी फिल्में कम लागत में अच्छी कमाई कर जाती हैं। इसमें कहानी को लोगों की आम दिनचर्या के बीच पिरोकर बनाने का प्रयास किया जाता है ताकि लोग उस से जुड़ा हुआ महसूस करें । और सस्पेंस मूवी के आने के बाद बोल्ड सीन को समाज के सामने प्रस्तुत करने का एक नया नजरिया सामने आया है। जिसमें अंगप्रदर्शन को कम किया गया है।

जानकारों के मुताबिक आने वाले दिनों में ऐसी फिल्मों की डिमांड और इनकी संख्या में इजाफा ही होना है ,जिससे बॉलीवुड को करोड़ों का फायदा होना तय है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram