भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री स्वर्गीय कल्पना चावला पर बनने वाली बायोपिक के लिए पति की रजामंदी नहीं

भारतीय मूल की पहली महिला-अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री ‘कल्पना चावला’ पर बायोपिक बनने की चर्चा काफी दिनों से है किन्तु कभी भी इन चर्चाओं पर किसी की कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी। ऐसी भी चर्चा है कि इस बायोपिक में कल्पना की भूमिका अभनेत्री प्रियंका चोपड़ा करेंगी, किन्तु प्रियंका ने भी कभी इस बात की पुष्टि नहीं कि। अब कल्पना के पति पियर हैरिसन ने सभी चर्चाओं पर विराम लगाते हुए किसी को भी ऐसा कोई अधिकार नहीं जारी करने कि बात कही है। इसका मतलब तो साफ है ऐसी कोई फ़िल्म नहीं बन रही है।

 

ज्ञात हो कि, कल्पना चावला की शादी जीन-पियरे हैरिसन से 1983 में हुआ था और 20 सालों के बाद 2003 में कोलंबिया अंतरिक्ष शटल के दुर्घटना में उनकी मृत्यु हुई थी। कल्पना के पति का मानना है उनके जीवन का यह हिस्सा अभी भी बहुत निजी है और वो उसे इसी प्रकार रखना चाहते है।

 

फरबरी 2017 में Quora पर एक पोस्ट शेयर किया था जिसमे उन्होंने यह बताया था कि कैसे निर्माता और अभिनेत्रियां, कल्पना पर फ़िल्म बनाने के लिए समपर्क करते थे किंतु उन्होंने कभी किसी को भी हाँ नहीं कहा। अब यह बात समझ से परे है कि जब कल्पना चावला के पति ने फ़िल्म के लिए किसी को अपनी रजामंदी ही नहीं दी तो फ़िल्म कैसे बन सकती है। 

 

चावला को मरणोपरांत ‘Congressional Space Medal of Honor’ से सम्मानित किया गया, यह नासा द्वारा अंतरिक्ष यात्रिओ को दिया जाने वाला सर्वश्रेष्ठ सम्मान है जिसे अमरीकी राष्ट्रपति के हाथों दिया जाता है और विभिन्न विभागों के सिफारिशों पर दिया जाता है। कल्पना चावला के सम्मान में कई सड़को, विश्वविद्यालयों और संस्थानों के नाम उनके नाम पर रखे गए है।

 

बहरहाल, इन तथ्यों से यह तो साफ है कि कल्पना चावला पर कोई बायोपिक नहीं बन रही है, क्योकि उनके पति ने किसी को अपनी रजामंदी नहीं दी हैं।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram