ये कहलाते हैं कॉमेडी के सिकंदर

हमारे समाज में प्राचीन समय से लेकर अब तक मनोरंजन के लिए अनेक साधनों का प्रयोग होता रहा है। उसी कड़ी में चलचित्र माध्यम, समाज में लोगों को उनकी दिनचर्या की, थकान को, मिटाने के लिए एवं उन को हंसाने के लिए हास्य नाटकों का फिल्मांकन करने लगा। आज हमारे समाज में लगभग कोई ना कोई एक आदमी ऐसा जरूर होगा जिसे आप “बहुत मजाकिया है वो” कह कर जरूर बुलाते होंगे। या कोई ऐसा व्यक्ति जिसकी अभिव्यक्ति को देखकर या किसी वक्तव्य को सुनकर आप ठहाके मार कर हंसने लगते होंगे। इसे ही कॉमेडी कहते हैं, तथा जो लोग जो व्यक्ति उस कॉमेडी को करते हैं , उन्हें कॉमेडियन कहते हैं ।

आज की खास रिपोर्ट में हम आपको ले चल रहे हैं भारत देश के उन कलाकारों से मिलवाने, जिन्होंने चुटकुलों को अपने अंदाज में कहकर, एवं अपने अभिनय के माध्यम से कॉमेडियन का तमगा अपने नाम किया है। किसी भी चलचित्र माध्यम में, जो मनोरंजन के उद्देश्य बनाए जाते हैं उनमें कॉमेडियन ना हो यह संभव नहीं।

आइए जानते हैं कुछ खास कॉमेडियन के नाम और उनके अभिनय के बारे में जिसके बलबूते उन्होंने खुद तो नाम कमाया ही और, अगर वही कॉमेडियन किसी फिल्म में, कोई किरदार को निभाया, तो उस फिल्म को भी लोगों के द्वारा ज्यादा पसंद की गई ।

यह रही कॉमेडी जगत के बादशाहों की सूची 

देव आनंद 

राजपाल यादव 

जॉनी लीवर 

गोविंदा 

कपिल शर्मा 

सुनील ग्रोवर 

जाकिर खान 

संजय मिश्रा 

भारती सिंह 

परेश रावल 

उपरोक्त सूची के अलावा भी सैकड़ों की संख्या में कॉमेडियन हैं जिन्होंने अपने किरदारों के माध्यम से हंसी का आलम बना दिया, चाहे वह छोटा किरदार हो या बड़ा किरदार इवनिंग कॉमेडी को करने में कोई भी कसर नहीं छोड़ी।

आइए जानते हैं अब इन किरदारों के बारे में

देव आनंद- 

इनका नाम देव आनंद उर्फ धरमदेव पिशोरी मल आनंद था। 26 सितंबर 1923 में इनका जन्म पंजाब में हुआ। साहब बहादुर, डार्लिंग डार्लिंग,जानेमन, प्रेम शस्त्र, बनारसी बाबू जैसी फिल्मों में उन्होंने जबरदस्त अभिनय किया। इन्हें फिल्म फेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार से, गाइड मूवी के लिए, नवाजा गया है, तथा 2001 में इन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।

राजपाल यादव –

छोटी कद काठी और चुलबुले प्रवृत्ति के, राजपाल यादव की कॉमेडी को भला कौन नहीं जानता। शाहजहांपुर में जन्मे राजपाल की एक्टिंग का दीवाना हर कोई है। मालामाल वीकली, चुप चुप के, ढोल, जैसी फिल्मों की कॉमेडी को कोई नहीं भूल सकता। राजपाल यादव कॉमेडी की दुनिया के एक जाने-माने नाम हैं।

जॉनी लीवर- 

आंध्र प्रदेश में 14 अगस्त 1957 में जन्मे जॉनी लीवर; फिर हेरा फेरी, खट्टा मीठा, दूल्हे राजा, जुदाई, बाजीगर, आदि फिल्मों में कॉमेडी के लिए जाने जाते हैं। राजा हिंदुस्तानी, के के लिए इन्हें स्टार स्क्रीन अवार्ड फॉर बेस्ट कॉमेडियन के अवार्ड से नवाजा गया।

गोविंदा –

 21 दिसंबर 1963 में जन्मे गोविंदा आहूजा के नाम 1 वर्ष में सबसे ज्यादा फिल्में देने का रिकॉर्ड दर्ज है। गोविंदा अपने डांस के लिए जाने जाते हैं। गोविंदा के पास 12 फिल्म फेयर अवार्ड हैं और एक फिल्मफेयर अवार्ड फॉर बेस्ट कॉमेडियन भी है। उन्हें उनकी फिल्म बड़े मियां छोटे मियां, हसीना मान जाएगी, साजन चले ससुराल, आंटी नंबर वन आदि फिल्मों में निभाए गए किरदार के लिए आज भी जाना जाता है ।

कपिल शर्मा-

“बाबाजी का ठुल्लू” टाइटल की खोज करने वाले कपिल शर्मा पंजाब से हैं। कपिल शर्मा के कार्य और अनुभव की लंबी लिस्ट है। इन्हें द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज में पहला ब्रेक मिला जिसे जीत कर इन्हें 10 लाख रुपए की नगद राशि प्राप्त हुई। 2013 में आए कॉमेडी शो “कॉमेडी नाइट्स विद कपिल” के माध्यम से कपिल शर्मा कॉमेडी के दिग्गजों में शुमार हो गए और देखते ही देखते उन्हें बेस्ट कॉमेडियन में से एक माना जाने लगा।

सुनील ग्रोवर-

13 अगस्त 1970 को हरियाणा में इनका जन्म हुआ। कॉमेडी नाइट्स विद कपिल में आने के बाद गुत्थी का किरदार निभाते हुए इन्हें जबर्दस्त कॉमेडियन के नाम से जाना जाने लगा। ये; जिला गाजियाबाद, गजनी, हीरोपंती आदि फिल्मों में बतौर को-स्टार काम कर चुके हैं।

जाकिर खान-

इंदौर शहर में जन्मे जाकिर खान शायरी के लिए जाने जाते हैं लेकिन उनकी कॉमेडी सीरीज “हक से सिंगल” और बहुत सारी परफॉर्मेंस में उन्हें कॉमेडी के एक नए अंदाज को दिखाते हुए देखा जाता है, जो कॉमेडी ग्रुप में बेहद दमदार होती है। इन्हें एक अच्छा कॉमेडियन माना जाता है उनका घर वाले आ रहे हैं” वीडियो बहुत फेमस है।

 

संजय मिश्रा –

इनका जन्म 1963 को पटना में हुआ। बॉलीवुड फिल्मों में सफेद दाढ़ी में कभी पान खाए, तो कभी गुड्डू रंगीला, जैसे कपड़ों में दिखने वाले संजय जी को मसान, आंखों देखी, फस गए रे ओबामा, जैसी फिल्मों में इनके द्वारा किए गए अभिनय के लिए जाना जाता है। फस गए रे ओबामा के लिए इन्हें बेस्ट एक्टर इन अ कॉमिक रोल का अवार्ड मिला है ।

भारती सिंह-

पुरुषों को कॉमेडी में टक्कर देने वाली महिलाओं में भारती का नाम भी शामिल है। जिन्हें कई सारे स्टैंडअप कॉमेडियन शो में देखा गया है, एवं इनके रोल को बखूबी सराहा भी जाता है। इनका जन्म अमृतसर में हुआ इन्हे इंडियन टेलीविजन अवार्ड द्वारा सर्वश्रेष्ठ कॉमेडियन अभिनेत्री का खिताब भी मिला है।

परेश रावल –

मालामाल वीकली, फिर हेरा फेरी, हंगामा, चुप चुप के,आदि फिल्मों में की गई कॉमेडी के लिए परेश रावल को एक बेहतरीन कॉमेडियन के रूप में माना जाता है। इनका जन्म 30 मई 1950 को गुजरात में हुआ। परेश रावल आज लोकसभा के सदस्य हैं। इन्होंने सैकड़ों फिल्मों में कॉमेडियन का रोल बखूबी निभाया है। “फिर हेरा फेरी” में इन्हें एक जबरदस्त कॉमेडियन के रूप में देखा गया जिस एक्टिंग के दीवाने लोग, आज भी हैं।

यह कुछ चुनिंदा कॉमेडियन कलाकारों की सूची थी जो कॉमेडी में अपने आप की अभिनय क्षमता का बखूबी प्रदर्शन करते हैं। इनके अलावा सुगंधा मिश्रा, जयललिता, पूर्बी जोशी, ब्रह्मानंदम (साउथ इंडियन मूवी) दीपक डोबरियाल, राजू श्रीवास्तव आदि मंझे हुए बेहतरीन कॉमेडी कलाकारों की एक लंबी सूची है।

क्यों जरूरी हैं कॉमेडी- 

किसी भी फिल्म या धारावाहिक में दर्शकों को लगातार जुड़े रहने के लिए हास्यपद दृश्य की जरूरत होती है, बिना उसके दर्शक ऊब जाएंगे। इसी की खानापूर्ति हेतु आज कॉमेडियन की इतनी ज्यादा खेप हमारे फिल्म जगत में मौजूद है। इनकी कास्टिंग का खर्च भी लीड रोल के अभिनेता से कम नहीं होता है क्योंकि कॉमेडियंस को भी कहीं ना कहीं से, किसी भी सफल फिल्म का श्रेय उन्हें भी अवश्य जाता है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram