ये हैं बॉलीवुड की 10 फिल्में, जो असल जीवन में करती हैं प्रेरित

फिल्में यू तो समाज के लिए एक आईना होती हैं, या दूसरे शब्दों में कहा जाए तो समाज का आईना।  जो समाज को ठीक उसी हिसाब से दिखाई देती हैं, जैसा कि समाज होता है। आज बॉलीवुड की नगरी में ऐसी फिल्में भी बनाई जाती हैं जो भारतीय नागरिकों के लिए प्रेरणादाई साबित होती हैं। तो चलिए हम जानते हैं आज का रिपोर्टर की स्पेशल रिपोर्ट में ऐसी 10 फिल्मों के नाम जो हमें प्रेरणा देती हैं और उनसे हमें जीवन जीने की एक नई सीख मिलती है।

1. मदर इंडिया

इस फिल्म का निर्माण 1957 में हुआ और इस फिल्म के निर्देशक महबूब खान और इसके निर्माता भी महबूब खान ही थे। हिंदी भाषा में रिलीज हुई यह फिल्म 172 मिनट की है। इस फिल्म की कहानी एक मां के ऊपर है जो अपने बच्चों को पालने के लिए बहुत मेहनत करती है और अपने आप को बुरे जागीरदारों से भी बचाती है। और अंत में अपने गुंडे बेटे को स्वयं मार देती है। इस फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे एक मां सबके भले के लिए अपने बेटे को भी मार सकती है।

2. आनंद

फिल्म आनंद 1971 में बनी फिल्म है इस फिल्म के निर्माता एवं निर्देशक, ऋषिकेश मुखर्जी हैं। फिल्म 21 मार्च 1971 को सिनेमाघरों में प्रदर्शित हुई और लोगों के बीच इस फिल्म ने जबरदस्त कमाई की। इस फिल्म को 1972 में फिल्म फेयर अवार्ड फॉर द बेस्ट फिल्म 1972 भी मिला है। इस फिल्म में लीड रोल राजेश खन्ना, सुमिता सान्याल और अमिताभ बच्चन के द्वारा निभाया गया है। यह कहानी एक कैंसर पीड़ित को खुश रखने के ऊपर बनी है जबकि मरीज को यह पता है कि उसके पास जीने के लिए बहुत कम समय बचा हुआ है। इस फिल्म का बाबूमोशाय शब्द आज भी लोगों की जुबान पर रटा हुआ है।

3. लगान

2001 में आई “लगान: वंस अपॉन ए टाइम इन इंडिया” फिल्म इंडियन स्पोर्ट्स ड्रामा फिल्म है। इस फिल्म के निर्देशक आशुतोष गोवारिकर है जबकि इस फिल्म के प्रोड्यूसर आमिर खान और मंसूर खान है। इस फिल्म में मुख्य भूमिका में आमिर खान, ग्रेसी सिंह, रिचेल शैली, पॉल ब्लैकॉर्थन, सुहासिनी मुले, कुलभूषण खरबंदा, रघुवीर यादव राजेंद्र गुप्ता ने मुख्य भूमिका निभाई है। इस फिल्म का संगीत ए आर रहमान ने दिया है जो काफी सुपरहिट रहा। फिल्म की कहानी क्रिकेट खेलकर लगान वसूली को माफ करवाने के ऊपर आधारित है। इस फिल्म को बनाने में लगभग 25 करोड रुपए खर्च हुए जबकि फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर 57 करोड़ रूपए से ज्यादा की कमाई की।

4. रंग दे बसंती

26 जनवरी 2006 को रिलीज हुई है फिल्म देश प्रेम से लबरेज हैं। इस फिल्म के निर्देशक राकेश ओमप्रकाश मेहरा हैं, जबकि फिल्म के निर्माता रोनी स्क्रूवाला, और राकेश ओमप्रकाश मेहरा हैं। इस फिल्म को सर्वश्रेष्ठ विदेशी भाषा फिल्म के लिए BAFTA पुरस्कार से नामांकित किया गया था। इस फिल्म के बाद लोगों ने  इंडिया गेट पर मोमबत्ती जलाकर शांतिपूर्वक प्रदर्शन किया और कई अहम केस को उच्च न्यायालय के द्वारा पुनः खोले जाने की अपील भी की । इस फिल्म का बजट 270 मिलियन था। जबकि फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर 970 मिलियन कमाए। इस फिल्म ने देश के युवाओं में देश प्रेम के प्रति भक्ति भावना को जागृत किया।

5. चक दे इंडिया

मौजूदा बॉलीवुड में रोमांस के बादशाह के रूप में जाने जाने वाले शाहरुख खान की बेहतरीन एक्टिंग से इस फिल्म में जान आ गई। इस फिल्म की कहानी भारतीय हॉकी टीम के ऊपर हैं जिस में दिखाया गया है कि एक गेम को जीतने के लिए कितनी कड़ी मेहनत और लगन की जरूरत होती है। इस फिल्म के निर्देशक जयदीप साहनी है। फिल्म के निर्माता आदित्य चोपड़ा हैं। फिल्म यशराज फिल्म्स के बैनर तले बनी है। फिल्म 10 अगस्त 2007 को रिलीज हुई थी। फिल्म का गाना चक दे इंडिया आज भी भारत की जीत होने पर बजता है चाहे वह क्रिकेट की जीत हो या हॉकी की जीत हो।

6. मांझी द माउंटेन मैन

21 अगस्त 2015 में यह फिल्म प्रदर्शित हुई। वायकॉम 18 मोशन पिक्चर्स और एनडीएमसी प्रोडक्शन कंपनी की तहत इस फिल्म का निर्माण हुआ है। इस फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दीकी का अभिनय लोगों के रोंगटे खड़े कर देने वाला है। इसमें दिखाया गया है कि कैसे एक मनुष्य अकेले दम पर पहाड़ तोड़कर रास्ता बनाने की जिद पकड़ता है। यह एक सच्ची घटना पर आधारित कहानी है जिसमें एक पति, अपनी पत्नी को खो देता है और अंत में रास्ता बनाते-बनाते वह भी मर जाता है। बाद में सरकार ने 2011 में इस गांव के लिए रास्ता बनवाया था।

7. उड़ान

इस फिल्म का निर्देशन विक्रमादित्य मोटवाने ने किया है। जबकि इसके निर्माता अनुराग कश्यप और रोनी स्क्रूवाला हैं। 129 मिनट की है फिल्म 16 जुलाई 2010 को रिलीज हुई। इस फिल्म की कहानी एक नौजवान लड़के और एक अपशब्द बोलने वाले बाप के बीच के बाप बेटे के रिश्तों पर आधारित है। फिल्म में बेटा अपने बाप को छोड़कर मुंबई चला जाता है और नोट में लिखकर जाता है कि वे उसे दोबारा ढूंढने की कोशिश ना करें।

8. 3 ईडियट्स

राजकुमार हिरानी के निर्देशन में बनी इस फिल्म ने लगभग 385 करोड़ रुपए कमाए हैं। अक्सर घरवालों के द्वारा बच्चों को जबरदस्ती इंजीनियर या डॉक्टर बनाया जाता है या बनने के लिए फोर्स किया जाता है लेकिन कभी भी उनके मन की बात को नहीं पूछा जाता ना ही उनसे उनकी रुचि के बारे में जानने की कोशिश की जाती है, कि वह वे क्या बनना चाहते हैं ? इसी घटनाक्रम पर आधारित 3 Idiots फिल्म का निर्माण किया गया है।

9. तारे जमीन पर

अक्सर घर में छोटे-छोटे बच्चों को पढ़ने लिखने और अक्षर को पहचानने में गलती होती है ऐसी एक फिल्म तारे जमीन पर बनी जिसमें आमिर खान ने बेहतरीन एक्टिंग की। इस में दिखाया गया कि कैसे मां-बाप के द्वारा बच्चों को दुत्कार दिया जाता है, जबकि उन बच्चों को मां बाप के सहारे की कितनी जरूरत होती है , और उन्हें मां-बाप के द्वारा समझने की भी जरूरत होती है, लेकिन अक्सर कुछ मां-बाप इस जिम्मेदारी से भागते हुए बच्चों को बोर्डिंग स्कूल में डाल देते हैं जहां पर बच्चे घुट-घुट कर जीते हैं। फिल्म की पूरी कहानी इसी घटना पर आधारित है। फिल्म के निर्देशक एवं निर्माता आमिर खान हैं। फिल्मी का संगीत शंकर-एहसान-लॉय के द्वारा दिया गया है जो काफी सुपर डुपर हिट भी है। फिल्म में मुख्य भूमिका आमिर खान और दर्शील सफारी ने निभाई है।

10. भाग मिल्खा भाग

यह फिल्म एक सच्ची घटना पर आधारित है जिसमें फरहान अख्तर ने जबर्दस्त अभिनय किया है और इस फिल्म को देखने के बाद युवाओं में खून का उबाल दौड़ जाता है। मिल्खा सिंह रोम ओलंपिक में हार गए थे जबकि पाकिस्तान में उनकी जीत के मायने बहुत ही महत्वपूर्ण थे। फिल्म में फरहान अख्तर और सोनम कपूर मुख्य भूमिका निभाते हुए नजर आएं हैं। फिल्म का निर्देशन राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने किया है। इस फिल्म का बजट 30 करोड़ रुपए था जबकि फिल्म ने 164 करोड़ रुपए की कमाई की। 61 वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में “भाग मिल्खा भाग” को सर्वश्रेष्ठ मनोरंजक फिल्म का अवार्ड मिला।

इनके अलावा बॉलीवुड में क्रांतिवीर, मैरी कॉम, गुरु, स्वदेश, लक्ष्य, जो जीता वही सिकंदर, अ वेडनेसडे और चिल्लर पार्टी जैसी फिल्में भी बॉलीवुड में इंस्पिरेशनल फिल्मों की कैटेगरी में रखी जाती हैं। यह ऐसी फिल्में हैं जिन्हें देखने के बाद दर्शकों के मन में जिंदगी जीने को सलीके से जीने के लिए एक नया आत्मविश्वास पैदा होता है। समय-समय पर प्रेरणादायक फिल्मों का निर्माण होता रहता है। आने वाले समय में भी ऐसी फिल्मों का निर्माण, बॉलीवुड में होना अति आवश्यक है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram