आईपीएल 2018 फाइनल विश्लेषण : चेन्नई सुपर किंग्स हैदराबाद को हराकर फिर बना चैंपियन

वीवो आईपीएल 2018 के फाइनल मुक़ाबले में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने केन विल्लियम्सन की अगुवाई वाली सनराइज़र्स हैदराबाद को 8 विकेट से हराकर तीसरी बार इंडियन प्रीमियर लीग का खिताब हतिया लिया है | 

पढ़िए यह विश्लेषण लेख जानने के लिए क्या रहा मैच का निष्कर्ष और मुख्य बिंदु | 

 

 

मैच की शुरुआत से -हैदराबाद की बैटिंग 

Ken Williamson

टॉस जीतकर महेंद्र सिंह धोनी ने चेन्नई की तरफ से गेंदबाज़ी का फैसला लिया | जहाँ हैदराबाद की मज़बूती उसकी गेंदबाज़ी में थी तो वहीँ चेन्नई की बल्लेबाज़ी उसकी ताक़त थी तो ऐसे में टॉस का रोल बेहद अहम हो गया था और चेन्नई को यह उप्पेर एडवांटेज के तौर पर मिला | 

दूसरे ओवर में ही हैदराबाद को श्रीवत्स गोस्वामी के रूप में झटका लगा और टीम का स्कोर उस वक़्त 13 ही था लेकिन इसके बाद कप्तान विल्लियम्सन और शिखर धवन ने सधी शैली से पारी को आगे बढ़ाया और टीम को पांच ओवर में 30 तक पहले पहुंचाया और वहीँ से अपने गियर बदले | 

स्ट्रेटेजिक टाइम के बाद टीम ने 8 ओवर में 62 रन बना लिए थे लेकिन यह सधी स्तिथि हमेशा नहीं रहने वाली थी और यह उसी वक़्त ख़राब हो गया जब रविंद्र जडेजा ने धवन को 26 रन पर बोल्ड कर डाला | विल्लियम्सन ने आगे संघर्ष ज़ारी रखते हुए टीम को 100 के पार पहुंचाया लेकिन कर्ण शर्मा ने उन्हें 47 के स्कोर पर चलता किया | 

अब क्रीज़ पर शाकिब अल हसन और युसुफ पठान मौजूद थे जिन्होंने अपेक्षाकृत तेज़ बल्लेबाज़ी करते हुए टीम के स्कोर को आगे बढ़ाया और टीम को 130 के पार पहुंचाया लेकिन तभी शाकिब का विकेट गिरा और दूसरा स्ट्रेटेजिक टाइम आउट हुआ जिसके बाद युसुफ पठान ने अपने चिरपरिचित अंदाज़ में 25 गेंदों पर 45 रन ठोक डाले जिनका साथ कार्लोस ब्रैथवेट 21 (11) की पारी खेली और टीम का स्कोर 178 / 6  तक पंहुचा डाला | 

 

चेन्नई का शानदार रन चेस 

Image result for ipl final

चौथी ही ओवर में चेन्नई ने फाफ डु प्लेसिस को खो डाला था जिनको संदीप शर्मा ने आउट किया | इसके बाद रैना -वाटसन की अनुभवी जोड़ी ने पारी को संभाल लिया और 10 ओवर के खेल के बाद टीम का स्कोर था 80 / 1  | एक बार पारी संभाली तो दोनों ने तेज़ी से स्कोरबोर्ड को बढ़ाना शुरू कर दिया और एक ख़ास रणनीति के तहत जहाँ रैना आराम से रन ले लेते रहे तो वहीँ वाटसन ने लम्बे -लम्बे शॉट्स लगाए | 

13 ओवर में मैच पूरी तरह से चेन्नई की तरफ मुड़ गया जब संदीप शर्मा ने 27 रन लुटवा डाले तो वहीँ अगले ही ओवर में ब्रैथवेट ने रैना को 32 के निजी स्कोर पर आउट किया और तब तक टीम ने 15 ओवर में 145 रन बना लिए थे | 

लेकिन इसके बाद आये अम्बाती रायडू ने कोई और विकेट नहीं गिरने दिया और 15 वे ओवर में रशीद खान के मेडेन डालने के बावजूद टीम को 18 .3 ओवर में लक्ष्य को हासिल किया जब रायडू ने ब्रैथवेट की गेंद पर एक शानदार चौका मारा ऑफ़साइड रूम लेकर | 

 

 

मैच का केंद्र 

IPL 2018 Final Analysis : हैदराबाद को बेबस कर शेन वॉटसन ने बनाया चेन्नई को चैम्पियन

बिना किसी शक के इस मैच का केंद्र रहा शेन वाटसन की आतिशी शतकीय पारी जिसमें उन्होंने मात्र 57 गेंदों पर 117 रन बना डाले | 8 बॉल डॉट करने के बाद सबने यही मान लिया कि वाटसन में अब वह बात नहीं रही लेकिन उनके बाद जो हुआ उसने मैच का रुख बदलते हुए उसे यादगार बना डाला | अंत तक वाटसन शतक बनाकर नाबाद रहे |

 

तो निष्कर्ष यही निकलता है कि हैदराबाद को जहाँ 20 रन अधिक बनाना था तो वहीँ चेन्नई ने उसे 20 रन पहले रोक कर अपना काम अच्छे किया और वहीँ बल्लेबाज़ी में हैदराबाद की बोलिंग औसत रही तो वहीँ चेन्नई का टॉप आर्डर जमकर चला और टीम ने जीत हासिल की |

एक अपनी मज़बूती पर अडिग रहा तो दूसरा अपनी मज़बूत नब्ज़ पर कमजोर हो बैठा | चेन्नई ही निकला असली “राइजिंग किंग ” तो वहीँ हैदराबाद डूब गया |

 

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram