पूर्व से ज्यादा संतुलित ‘Kings XI Punjab’ है ‘आईपीएल 2018’ के खिताब की प्रबल दावेदार

आईपीएल के इस ग्यारहवें संस्करण तक जो टीमें अभी तक खिताब नहीं जीत पायी है उनमें एक नाम ‘किंग्स इलेवन पंजाब’ भी है। इस बार टीम को अपने नए कप्तान ‘रविचंद्रन अश्विन’ से खिताब की आस है और यह आक्रामक गेंदबाज भी पहली बार मिले इस बागडोर को भुनाने की कोशिश करेगा, क्योकि आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन उनकी टीम इंडिया में वापसी का मौका भी बना सकता है। पेपर पर पंजाब की टीम इस बार पूर्व से ज्यादा संतुलित नजर आ रही है और यह संतुलन आपीएल के सबसे ज्यादा सफल व आक्रामक बल्लेबाजों में शुमार खतरनाक सलामी बल्लेबाज ‘क्रिस गेल’, भारतीय हरफनमौला ‘युवराज सिंह’,ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज ‘आरोन फिंच’ और के एल राहुल व मयंक अग्रवाल आदि युवा बिग्रेड जैसे नामों के इस टीम में होने से है। वहीं गेंदबाजी की बागडोर अश्विन के नेतृत्व में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज एंड्रू टाई, मोहित शर्मा आदि प्रमुख है।
उपयुक्त संयोजन से खेल के हर विभाग चाहे वो बल्लेबाज़ी हो या गेंदबाजी हो या फिर क्षेत्ररक्षण या हरफनमौलाओं की बात हो यह टीम अपने आप को खिताब की प्रबल दावेदार के रूप में पेश कर रही है हालांकि उनकी उम्मीद 2014 की तरह प्ले ऑफ खेलने की तो ज़रूर ही होगी |

संक्षेप में 

टीम : किंग्स इलेवन पंजाब

कप्तान : रविचंद्रन अश्विन

कोच : ब्रैड हॉज

मैदान : मोहाली

ओपनिंग जोड़ी 

सही अर्थ में इसी टीम की सलामी जोड़ी सबसे ज़्यादा ठोस नज़र आती है फिर चाहे बात कागज़ पर हो या मैदान में प्रदशन की | टीम के पास टी-२० का सबसे बड़ा रन बनाने वाला बल्लेबाज़ क्रिस गेल के रूप में मौजूद है तो वहीँ उनका साथ देने के लिए के एल राहुल और धाकड़ ऑस्ट्रेलियाई ओपनर आरोन फिंच है जो इससे पहले हैदराबाद के लिए शानदार प्रदर्शन कर चुके है तो वहीँ भारतीय घरेलू क्रिकेट सीजन में रनो का अम्बार लगाने वाले मयंक अग्रवाल को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता है | पंजाब इस लिहाज़ से ओपनिंग स्लॉट में अव्वल है क्यूंकि उसके पास फ्रंट और बैकअप दोनों के प्लेयर्स तैयार है |

             मयंक अग्रवाल -भारतीय घरेलू क्रिकेट की वर्तमान रन मशीन 

                                  क्रिस गेल -टी-२० का सबसे विस्फोटक ओपनर 

मध्यक्रम 

तेज़ ओपनिंग मिलने पर रन रेट बढ़ाना हो या जल्दी विकेट गिर जाने पर टीम को एक बड़े स्कोर तक पहुंचना हो मध्यक्रम हर लिहाज़ से ज़रूरी है क्यूंकि बल्लेबाज़ी की रीढ़ यही होती है और इसी लिए यहाँ अनुभव पर दांव खेलते हुए सिक्सर किंग युवराज सिंह ,डेविड मिलर ,मनोज तिवारी , के एल राहुल की बल्लेबाज़ी पर भरोसा जताया गया है |

                         युवराज सिंह – किंग इस बैक सो फ़िक्र की क्या बात ?

गेंदबाज़ी 

तेज़ गेंदबाज़ी की बात करें तो टीम के पास ऑस्ट्रेलियाई डोमेस्टिक क्रिकेट में तीन हैट्रिक लेकर अपनी धमक बनाने वाले एंड्रू टाई मैजूद है जिनका साथ देने के लिए मोहित शर्मा , बेन द्वारशुत्स ,बरिंदर सरन ,अंकित राजपूत की जोड़ी तो वहीँ स्पिन डिपार्टमेंट के लिए रीटेन किये गए स्लो लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्सर पटेल और स्वयं कप्तान अश्विन मौजूद है जो रनो का फ्लो रोक कर विकेट झटकना अच्छे से जानते है |

                                एंड्रू टाई – एक सीजन में लिए तीन हैट्रिक  

                       अश्विन – टीम के कप्तान व गेंदबाज़ी के शीर्ष 

आल-राउंडर्स 

टीम के लिए सबसे अच्छी बात है उसके एक नहीं कई आल-राउंडर्स है जो समय आने पर बल्ले और गेंद के अलावा फील्डिंग से भी टीम को जीतवाने का माद्दा रखते है | जिसमे सबसे ऊपर नाम है खुद युवराज सिंह का फिर उसके बाद ऋषि धवन की kami पूरी करने के लिए ऑस्ट्रेलिया के मार्कस स्टोइनिस जो अपनी माध्यम गति और लम्बे शॉट्स से खेल का रुख बदल सकते है इसके अलावा प्रदीप साहू ने भी घरेलू क्रिकेट में अपना नाम कमाया है और टीम के स्टार खिलाड़ी अक्सर पटेल तो हमेशा ही किसी न किसी तरह से अपना योगदान अवश्य देते है |

                   अक्षर पटेल – टीम के फ्रंटलाइन  आल-राउंडर

जब हर डिपार्टमेंट में टीम के पास फ्रंट लाइन और बैकअप के लिए खिलाड़ी तैयार है तो ज्यादा से ज्यादा फाइनल्स और कम से कम प्ले ऑफ में किंग्स इलेवन पंजाब के पहुंचने की उम्मीद तगड़ी है |

इस बार मालकिन प्रीति ज़िंटा और उनके साथियों के साथ-साथ प्रशंसकों को भी टीम की आईपीएल खिताब के पंजाब आगमन का पूरा भरोसा है |

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram