बेंगलुरू को ओपेनर्स की दरकार: ये हो सकते हैं सही चुनाव

1 दशक बीत चुका है ! इस दौरान रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को दर्शकों का साथ व प्यार तो ज़रूर मिला पर बहुचर्चित टीम होने के बावजूद वो ख़िताब का स्वाद अभी तक नहीं जीत पाई  है। 8 अप्रैल से शुरू हो रहे विवो आईपीएल के अपने 11वे सीजन के सफर में टीम कप्तान कोहली की कप्तानी में ख़िताब हथियाने के लक्ष्य के साथ उतरेगी जिसके लिए ठोस शुरुआत ज़रूरी है और उसके लिए करना होगा सही सलामी जोड़ी का चुनाव इसलिए हम आपको बताएँगे ओपनिंग कॉम्बो के सही विकल्प। आइये नज़र डालिये इन संभावितों पर –

मनन वोहरा

किंग्स XI पंजाब से इस सीजन रॉयल चैलेंजर्स में शामिल हुए २४ वर्षीय मनन वोहरा एक धाकड़ बल्लेबाज़ के रूप में अपनी पहचान बना चूके है जो खेल के मिजाज़ के हिसाब से अपनी शैली को बदल कर लंबी पारियां खेल सकता है।

मैच– 45  रन-957 स्ट्राइकरेट-132  *1 शतक

क्विंटन डी कॉक

बाएं हाथ के सलामी विकेटकीपर के तौर दक्षिण अफ्रीका के रेगुलर कीपर क्विंटन डी कॉक से बड़ा नाम आज कोई भी नहीं है | विकेट के पीछे उनकी चुस्ती हो या स्पोर्ट्समैनशिप की भावना क्विंटन सबसे अव्वल है |

२५ वर्षीय इस बल्लेबाज़ ने २०१२ में हैदराबाद फिर २०१४-२०१७ सीजन तक दिल्ली डेयरडेविल्स को ठोस शुरुआत देकर कई अहम जीत दिलवाई है और बेंगलुरु भी उनसे इसी तरह विकेट के पीछे और आगे रहकर जीत दिलवाने की उम्मीद करेगा |

मैच – 26  रन -776  स्ट्राइक रेट -132 

मोइन अली 

३० वर्षीय मोइन अली वैसे तो किसी भी नंबर पर बल्लेबाज़ी करने में सक्षम है और साथ ही अपनी फिरकी से विकेट्स दिलवाकर गेम का पासा बदलने का माद्दा रखते हैं | अपना पहला आईपीएल सीजन खेल रहे इस इंग्लिश खिलाड़ी को एक ओपनिंग प्रयोग के तौर पर शामिल कर विपक्षी टीमों को हक्का-बक्का किया जा सकता है क्यूंकि वह एक आल-राउंडर है जो गेंद -बल्ले के अलावा अपनी लाजवाब फील्डिंग से टीम के लिए एक्स फैक्टर साबित हो सकते हैं |

इंटरनेशनल टी-२० : मैच – 22 रन – 202 स्ट्राइक रेट – 112 .85  विकट- 19 

ब्रेंडन मक्कल्लुम 

आईपीएल के पहले सीजन के ओपनिंग मैच में केकेआर की तरफ से आरसीबी के खिलाफ न्यूज़ीलैण्ड के पूर्व कप्तान मक्कल्लुम की तूफानी 158 रनो की पारी तो आपको याद ही होगी जिसने दर्शकों को उनका दीवाना बना डाला था |

टी-20 क्रिकेट के दिग्गजों में शुमार यह खिलाड़ी अपनी उम्र के विपरीत विकेट के पीछे हो या मैच के किसी भी कोने में मक्कल्लुम का बल्ला जब भी चला है जीत की गारंटी मिल ही जाती है |

मैच -103  रन – 2753  स्ट्राइक रेट – 158 शतक -2 

 

 

 

पार्थिव पटेल

भारतीय क्रिकेट में “छोटा भाई” के नाम से मशहूर पार्थिव पटेल वैसे तो एक तकनीकी बल्लेबाज़ के तौर पर जाने जाते हैं पर बीते समय में उन्होंने बल्लेबाज़ी में नए गेयर्स लगते हुए तेज़ बल्लेबाज़ी करने का प्रमाण दिया है| यदि विकेट ज़्यादा गिरे हो तो जुझारू बल्लेबाज़ी कर बड़ी पारी खेलकर टीम को संकट से उबारने में पार्थिव का कोई भी सानी नहीं है |

मैच -119  रन – 2372   स्ट्राइक रेट-117

आईपीएल के मौजूदा नियम के अनुसार टीम में 4 ही विदेशी खिलाड़ी हो सकते हैं इसलिए कोच वेटोरी और कप्तान कोहली 1 ही विदेशी सलामी बल्लेबाज़ रखने पर विचार करेंगे | प्लेयर कोटा के अलावा चयन का दूसरा फैक्टर होगा बाएं -दाएं  या दाएं -दाएं बल्लेबाज़ की  जोड़ी हालांकि आदर्श रुझान बाएं-दाएं का ही है जिसके लिए क्विंटन डी कॉक बाएं के  लिए  पहली पसंद हो सकते हैं तो बात दूसरे यानी दाएं बल्लेबाज़ करें तो  उसके लिए वोहरा या मक्कल्लुम में से एक पर दाव लगाया जा सकता है |

फिर भी मुनासिब है कि प्रदर्शन या मैच रणनीति के हिसाब से अलग – अलग खिलाडियों को मौका दिया जा सकता है जिसके लिए दूसरे विकल्पों में पार्थिव, मोईन अली का नाम उपयुक्त है| शुरुआत युवा जोड़ी – क्विंटन डी कॉक और मनन वोहरा से करवाई जाये तो आरसीबी के लिए मैच जिताऊ समीकरण बन सकता है|

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram