पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान अजित वाडेकर का मुंबई के जसलोक अस्पताल में निधन

1 अप्रैल 1941 को मुंबई में जन्मे पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान अजित वाडेकर ने मुंबई के जसलोक अस्पताल में अंतिम सांस ली। वह 77 वर्ष के थे। वह लंबे समय से कैंसर की बीमारी से जूझ रहे थे। अजित वाडेकर भारतीय क्रिकेट टीम के पहले कप्तान थे जिन्होंने लगातार तीन टेस्ट सीरीज जीती थीं। इनमें से एक सीरीज वेस्टइंडीज में, एक इंग्लैंड में और एक इंग्लैंड के खिलाफ भारत में खेली गई थी। वाडेकर ने मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी के दौरान भारतीय टीम के मैनेजर के रूप में भी जिम्मेदारी निभाई थी। बाद में वह मुख्य चयनकर्ता भी बने। उनके परिवार में पत्नी रेखा के अलावा 2 पुत्र और 1 पुत्री है।

8 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर में बायें हाथ के बल्लेबाज वाडेकर ने कुल 37 टेस्ट मैच खेले। 1971 से 1974 के दौरान उन्होंने 16 टेस्ट मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी की, जिसमें से 4 मैच जीते, 4 हारे, जबकि 8 मैच ड्रॉ रहे। वह 2 वनडे मैच भी खेले और दोनों में उन्होंने भारतीय टीम की कमान संभाली। वनडे क्रिकेट में वह भारतीय टीम के पहले कप्तान थे। वाडेकर कुशल क्षेत्ररक्षक भी थे। उन्होंने टेस्ट में 46, वनडे में 1 और प्रथम श्रेणी करियर में 271 कैच लपके। टेस्ट करियर में उन्होंने एकमात्र शतक न्यूजीलैंड के खिलाफ 1968 में वेलिंगटन में लगाया। इस टेस्ट की पहली पारी में उन्होंने 143 रन बनाए थे। उन्होंने इस दौरान 37 टेस्ट मैचों में 1 शतक और 14  की मदद से 2113 रन और 2 वनडे में एक पचासे की बदौलत 73 रन बनाए। उनके खाते में 237 प्रथम श्रेणी मैच भी है, जिसमें उन्होंने 15,380 रन बनाए। उन्हें कई सम्मानों से सम्मानित किया गया है, जैसे अर्जुन अवॉर्ड और पद्मश्री सम्मान इसके अलावा उन्हें बीसीसीआइ द्वारा सीके नायडू लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड भी दिया गया।

वाडेकर के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर शोक जताया है। अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री ने लिखा, ‘अजित वाडेकर को भारतीय क्रिकेट में दिए उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए याद किया जाएगा। एक महान बल्लेबाज और शानदार कप्तान, जिनकी कप्तानी में हमारी टीम ने कई यादगार लम्हे दिए। इन उपलब्धियों के साथ-साथ उन्हें प्रभावी क्रिकेट प्रशासक के रूप में भी आदर के साथ याद किया जाएगा। उनके निधन से दुखी हूं।’ साथ ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी उनके निधन पर संवेदना व्यक्त की। उनके साथ खेले हुए और उन्हें देखकर बड़े हुए खिलाड़ियों ने भी उनके निधन पर ट्वीट करके उनकी यादों को ताजा किया और शोक व्यक्त किया।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram