भारत मे अप्रैल-अक्टूबर 2017 के दौरान सर्पदंश से 1.14 लाख मौते

भारत मे इस साल 1 अप्रैल से 31 अक्टूबर तक मे सर्पदंश से कुल 1.14 लाख मौते हुयी है। यह आंकड़ा स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के द्वारा जारी किया गया है। ऐसा पहली बार हुआ है जब स्वास्थ्य मंत्रालय ने पूरे देश से इस प्रकार के आंकड़े संग्रह कर एक सूची बनाई है, जिसमे महाराष्ट्र शीर्ष स्थान पर है।

सर्पदंश के 24437 मामलों के साथ, महाराष्ट्र इस सूची में शीर्ष स्थान पर काबिज है। उपर्युक्त समयसीमा में सर्प दंश के सर्वाधिक मामले महाराष्ट्रा से है। इस सूची में महाराष्ट्र के बाद 23,666 सर्प दंशों के साथ दूसरे स्थान पर पश्चिमी बंगाल ओर तीसरे स्थान पर 10,735 सर्प दंशों के साथ आंध्र प्रदेश है।

पूरे देश के कुल मामलों 1.14 लाख सर्प दंशों में से 91,871 मामले ग्रामीण क्षेत्रो से है। महाराष्ट्र के कुल मामलों में से 19,012 सर्पदंश ग्रामीण क्षेत्रो से है जबकि 5,425 मामले शहरी क्षेत्रों के है।

सर्पदंशों के इतने मामले सामने आने के बाद कारणों की समीक्षा करना जरूरी है। ग्रामीण क्षेत्रो में जीवन शैली काफी हद तक जिम्मेदार है, वहाँ सुविधाओ का अभाव होना भी एक अहम कारण है। रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था न होना, कूड़ा प्रबंधन का उपयुक्त ढंग से नही होना आदि प्रमुख कारण है। इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रो में जागरूकता अभियान चलाना आवश्यक है। 

मीडिया में इस प्रकार के समाचार आने से भी लोगो को पूरे देश में हुई मौतों के आंकड़े से इसकी गंभीरता का पता चलेगा, लोग सावधानी बरतेंगे, इसके कारणों को जानने का प्रयास करेंगे और इस से बचने का भी।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram