राहुल गांधी की तरफ से कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए, नहीं आया है कोई आवेदन : विदेश मंत्रालय

कहते हैं कि तीर्थस्थल/धर्मस्थल के बारे में बोलते हुए कभी भी झूठ नहीं बोला जाता लेकिन कांग्रेस की महिमामंडन का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि वह विदेश मंत्रालय पर झूठा आरोप लगा रही है कि विदेश मंत्रालय राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर यात्रा में अड़ंगा लगा रहा है जबकि माजरा कुछ और ही है। जी हां राहुल गांधी ने कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए विदेश मंत्रालय में किसी भी प्रकार का कोई आवेदन किया ही नहीं है, जबकि कांग्रेस का आरोप है कि विदेश मंत्रालय राहुल गांधी को कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने से अड़ंगा लगा रहा है।

विदेश मंत्रालय ने कहा राहुल गांधी  से नहीं मिला है कोई आवेदन – 

विदेश मंत्रालय ने जब कांग्रेस की ओर से यह बयान सुना कि विदेश मंत्रालय राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर यात्रा पर अड़ंगा लगा रहा है तो विदेश मंत्रालय ने बयान जारी करते हुए कहा कि उन्हें राहुल गांधी की तरफ से इसको लेकर कोई आवेदन नहीं मिला है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बताया कि हम किसी की भी यात्रा में अड़ंगा नहीं लगा रहे हैं जबकि हमें राहुल गांधी की तरफ से इसको लेकर कोई औपचारिक आवेदन मिला ही नहीं है।

रवीश कुमार ने कहा कैलाश मानसरोवर यात्रा के हैं दो तरीके – 

रवीश कुमार ने बताया कि कैलाश मानसरोवर यात्रा पर जाने के लिए दो तरीके हैं। पहले तरीके में आपको पंजीकरण कराना पड़ता है, जिसका आयोजन विदेश मंत्रालय की तरफ से किया जाता है। दूसरा तरीका यह है कि लॉटरी के द्वारा नाम निकाला जाता है जो कि एक पारदर्शी व्यवस्था है। रवीश कुमार ने आगे बताते हुए कहा कि एक अन्य तरीका भी है जिसके जरिए आप कैलाश मानसरोवर की यात्रा कर सकते हैं। इसके अंतर्गत आपको नेपाल के रास्ते से जाना पड़ता है, जिसके लिए आपके पास चीन का वीजा होना जरूरी है। रवीश कुमार ने कहा कि इस मुद्दे पर हमारी राहुल की बातचीत नहीं हुई है अगर हमारी उनसे बात होती है तो हम इस पर जरूर विचार करेंगे।

एक ओर जहां विदेश मंत्रालय ने कांग्रेस के बेबुनियादी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है तो वहीं कांग्रेस की ओर से इस मामले में अभी तक कोई भी जवाब नहीं आया है। दरअसल कर्नाटक चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने कहा था कि वे 10 से 15 दिन के लिए कैलाश मानसरोवर यात्रा पर जाना चाहते हैं। गौरतलब है कि पार्टी की जनाक्रोश रैली के दौरान विमान में गड़बड़ी को लेकर बातचीत करते हुए राहुल गांधी ने कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने की बात कही थी।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram