वायुसेना का जगुआर हुआ क्रैश पायलट की हुई मौत, कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के दिए गए आदेश

भारतीय वायुसेना का एक जगुआर लड़ाकू विमान गुजरात के कच्छ में चल रहे रूटीन ट्रेनिंग के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस हादसे में वायुसेना के पायलट सैनिक संजय चौहान शहीद हो गए। संजय चौहान वायुसेना में एयर कमांडर के पद पर थे। बताया जा रहा है कि, जगुआर फाइटर एयरक्राफ्ट ने जामनगर से सुबह करीब 10.30 बजे उड़ान उड़ान भरी थी और अचानक क्रैश हो गया। क्रैश होने के बाद कई किलोमीटर के दायरे में विमान का मलबा गिरा। हादसे का कारण का अभी पता नहीं चल पाया है। लेकिन घटना के कारण का पता लगाने के लिए वायुसेना मुख्यालय ने कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के, आदेश दिए हैं।

गुजरात के एक अधिकारी ने बताया, ‘ रूटीन ट्रेनिंग के दौरान विमान बरेजा गांव के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया।’ वहीं, स्थानीय लोगों ने बताया कि, सुरक्षा एजेंसियों ने मौके पर पहुंच कर इलाके की घेराबंदी कर दी। ये हादसा इतना जबरदस्त था कि, गांव के बाहरी इलाके में दूर तक विमान का मलबा गिरा पड़ा। इस हादसे में जानवरों को भी नुकसान पहुंचा। विमान क्रैश की चपेट में आकर कई जानवर घायल हो गए। कहा जा रहा है कि, मुद्रा के आसपास प्लेन का संपर्क टूट गया, जिसके बाद यह हादसा हुआ है।

जगुआर विमान की खासियतें:

– जगुआर काफी खास किस्म का लड़ाकू विमान है।

– यह दुश्मन की सीमा में अंदर घुसकर दुश्मनों पर हमला कर सकता है।

– जगुआर फाइटर एयरक्राफ्ट की मदद से आसानी से दुश्मन के कैंप, एयरबेस और वॉरशिप्स को निशाना बनाया जा सकता है

– यह दुश्मन के ठिकानों पर कम ऊंचाई से हमले कर सकता है।

असम के माजुली द्वीप में 15 फरवरी को वायुसेना का एयरक्राफ्ट क्रैश हुआ था। इस हादसे में दोनों पायलट शहीद हो गए थे। इस बार भी क्रैश हुआ माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट (Virus SW80) रुटीन फ्लाइट पर था।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram