1 अप्रैल से यात्री परिवहन वाहनों में जीपीएस एवं पैनिक बटन अनिवार्य

1 अप्रैल से यात्री परिवहन वाहनों में जीपीएस एवं पैनिक बटन अनिवार्य

सरकार ने आम नागरिकों के सुरक्षा के मद्देनजर एक बड़ा निर्णय लिया है, आवागमन के प्रमुख साधन के रूप में उपयोग की जाने वाले यात्री परिवहन वाहनों में सुरक्षा उपकरण लगाए जाएंगे।

सरकार ने टैक्सी और बसों सहित सभी यात्री परिवहन वाहनों में ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (GPS) उपकरणों और पैनिक बटन को अनिवार्य रूप से इंस्टॉल करने के लिए 1 अप्रैल की समयसीमा की घोषणा की है। सरकार के इस फैसले से यात्रियों को आतंक या खतरे की स्थिति में पुलिस और परिवहन विभाग को सतर्क करने में मदद करेगी। हालांकि ई-रिक्शा और ऑटो रिक्शा आदि तीन पहिया वाहनों को नियम से छूट दी गई है।

इस से पूर्व में सरकार ने शुरुआत में सीसीटीवी इंस्टॉल करने की योजना थी किन्तु व्यव्हारिक कारणों से कैमरे के स्थान पर जीपीएस और पैनिक बटन को वरीयता दी गयी। परिवहन वाहनों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से यह दोनों ही उपकरण ज्यादा मुफीद है, जीपीएस से वाहनों की वर्तमान स्थिति का पता चलता है और पैनिक बटन, यात्रियों को संकट या खतरे की स्थिति में पुलिस या विभाग को संदेश दिया जा सकता है।

चलिए, देर ही सही किन्तु सरकार ने शुरुआत तो की, देर आये दुरुस्त आये।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram