अमित शाह और शिवसेना का आमना-सामना, उद्धव ठाकरे ने कहा 2024 में भी साथ में लड़गे चुनाव

हाल ही के दिनों में लगातार शिवसेना की ओर से बीजेपी पर कटाक्ष पर कटाक्ष जारी थे और वहीं बीजेपी की ओर से कोई भी पलटवार नहीं किया जा रहा था क्योंकि कहीं ना कहीं किसी ना किसी रूप में BJP की गलती निकल ही आती थी चाहे वह माल्यार्पण करते समय उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खड़ाऊ ना उतारने का लेकर रहा हो या केंद्र सरकार की ओर से लगातार पेट्रोल दामों में बढ़ोतरी का। लेकिन जब शिवसेना का सामना बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से हुआ तब शिवसेना ने सारे शिकवे को बुलाते हुए उनसे गले मिलना ही उचित समझा । दरअसल इन दिनों अमित शाह मुंबई में समर्थन अभियान के तहत बॉलीवुड के कलाकारों और अपने सहयोगी दलों से मुलाकात कर रहे हैं।

अमित शाह और उद्धव ठाकरे की हुई मुलाकात –

अमित शाह बुधवार को मुंबई पहुंचे और वहां पर वह बॉलीवुड के कलाकारों से भी मिलने के लिए गए हुए हैं। मोदी सरकार के 4 साल पूरे होने पर वह “संपर्क फॉर समर्थन” अभियान के तहत लोगों से मुलाकात कर रहे हैं। इसी दौरान वे आज शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के आवास ‘मोतीश्री’ पहुंच कर उनसे मुलाकात की। और बताया यह भी जा रहा है कि उद्धव ठाकरे की ओर से जवाब आया है कि वह 2019 में भी भाजपा का साथ देंगे।

क्या है संपर्क फॉर समर्थन अभियान-

मोदी सरकार के 4 साल पूरे हो जाने पर इस अभियान को शुरू किया गया है, यह एक ऐसा कार्यक्रम है जिसमें अमित शाह की अगुवाई में पार्टी को लाभ पहुंचाने वाले सभी लोगों से मुलाकात की जा रही है। इस अभियान के तहत भारतीय जनता पार्टी अपने रूठे हुए सहयोगी दलों से मुलाकात कर रही है। और भारतीय जनता पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारियों के लिए भी इस प्रोग्राम का सहारा ले रही है। वही इस अभियान के तहत बॉलीवुड के कलाकारों से भी संपर्क किया जा रहा है ताकि उन्हें आगामी लोकसभा चुनाव में प्रचार प्रसार में सहायता मिल सके। दूसरी ओर महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना है। बावजूद इसके आए दिन किसी न किसी वजह से इन दोनों दलों में कहासुनी होती रहती है। जबकि उद्धव ठाकरे लगातार भाजपा पर कटाक्ष जारी रखें रहते हैं।

भाजपा को क्यों जरूरत पड़ रही है ऐसे अभियान की –

दरअसल भाजपा का नारा था कि वह कांग्रेस मुक्त भारत की स्थापना करेगा लेकिन पिछले कुछ विधानसभा चुनाव और लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी की करारी शिकस्त से BJP का यह सपना चकनाचूर हो गया और BJP को मुंह की खानी पड़ी। वहीं कांग्रेस ने वापसी दिखाते हुए कर्नाटक विधानसभा चुनाव में BJP को जबर्दस्त टक्कर दी। और कर्नाटक में जनता दल सेकुलर और कांग्रेस ने गठबंधन करके सरकार बना ली वही कर्नाटक के इस मंच पर पूरा विपक्ष एक साथ देखने को मिला जिसके बाद से भाजपा की नींद उड़ी हुई है दूसरी ओर भाजपा को लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भी खतरा दिखने लगा है क्योंकि अगर विपक्ष इसी प्रकार एकजुट रहा तो भाजपा का सफाया पूरे देश से जरूर हो सकता है। इन्हीं सब समस्याओं को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी ने पार्टी को मजबूत बनाने के लिए अपने सहयोगी दलों से मिलजुल कर उनको मनाने की प्रक्रिया को शुरु कर दिया है और चर्चित हस्तियों का सहारा लेना शुरू कर दिया है ताकि वह 2019 में “एक बार फिर मोदी सरकार” का सपना पूरा करने में सक्षम बनें।

शिवसेना और बीजेपी आ चुकी है आमने सामने-

जो शिवसेना और बीजेपी कभी एक-दूसरे का हाथ थाम कर चलने वाली दल थे वहीं आज यह दोनों एक-दूसरे के खिलाफ होते हुई नजर आ रहे हैं। शिवसेना और बीजेपी में टक्कर तो चल ही रही है, और इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि हाल ही में हुए पालघर लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी के खिलाफ शिवसेना ने अपना प्रत्याशी उतारा था। जबकि पिछले साल शिवसेना ने अपने महासम्मेलन के दौरान मंच से यह घोषणा की थी कि वह 2019 में अकेले चुनाव लड़ेगी। वही आज जब उद्धव ठाकरे की मुलाकात अमित शाह से हुई तो उद्धव ठाकरे ने कहा हम 2019 ही नहीं 2024 में भी चुनाव साथ-साथ लड़ेंगे।

रतन टाटा और माधुरी दीक्षित से हो चुकी है मुलाकात-

वहीं इस संपर्क पर समर्थन अभियान की बात की जाए तो इस अभियान के तहत अमित शाह ने अब तक रतन टाटा और बॉलीवुड की हसीन अदाकारा माधुरी दीक्षित से मुलाकात कर ली है । वहीं शाह ने लता मंगेशकर जी से भी मुलाकात करने की इच्छा जताई थी लेकिन लता मंगेशकर जी को फूड प्वाइजन की शिकायत के कारण, अमित शाह और लता मंगेशकर जी की मुलाकात संभव नहीं हो सकी ।

ऐसे में अगर संपर्क व समर्थन अभियान की उपलब्धि के रूप में देखा जाए तो अमित शाह ने इस समर्थन की शुरुआत सकारात्मक तरीके से शुरू कर दी है और यह अभियान कारगर भी साबित होता हुआ दिखाई पड़ रहा है। अब देखना यह है कि अमित शाह कि यह मुलाकात 2019 में कहां तक सही साबित होती है और भारतीय जनता पार्टी को इस संपर्क अभियान से कितना फायदा पहुंचता है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram