अमेरिका की नाराजगी के बाद भी भारत करेगा यह काम

भारत देश अपनी सुरक्षा को लेकर हमेशा सतर्कता बरतते रहता है और इसी सतर्कता को ध्यान में रखते हुए एक बार सुरक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए भारत में कड़े कदम उठाने के संकेत दिए हैं पिछले कुछ समय पहले 2 प्लस 2 वार्ता रद्द होने के बाद जल्द ही 2 प्लस टू वार्ता होगी जिसमें भारत रूस से रक्षा मामले में जो सौदा करने की सोच रहा है उस पर अपनी बात स्पष्ट कर देगा।

अमेरिका की नाराजगी के बाद भी होगी खरीददारी – 

अमेरिका के द्वारा रक्षा क्षेत्र के मामलों में किसी भी विशेष उपकरण की खरीद फरोख्त के लिए रूस पर प्रतिबंध लगाया गया है और कहा यह भी जा रहा था कि अमेरिका के खिलाफ जाकर अगर भारत या सौदा करता है तो भविष्य में अमेरिका भारत के लिए मुश्किलें भी खड़ी कर सकता है लेकिन सूत्रों के मुताबिक रूसी एस-400 ट्रिंफ एयर डिफेंस सिस्टम की खरीद को लेकर अपनी स्थिति स्पष्ट कर देगा। भारत बता देगा कि वह 40 हजार करोड़ रुपये के इस सौदे के लिए आगे बढ़ेगा। इस मामले में वह रूस से रक्षा खरीद पर लगे अमेरिका के प्रतिबंध का पालन नहीं कर सकता। उम्मीद जताई जा रही है कि जल्दी 2 प्लस 2 वार्ता होगी जिसमें अमेरिकी विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री शामिल होंगे जबकि भारत की ओर से विदेश मंत्री एवं रक्षा मंत्री शामिल होंगे। वहीं भारत विदेश मंत्री माइक पोंपियो और रक्षा मंत्री जिम मैटिस  को रक्षा सौदे के तहत पूरे मामले को स्पष्ट रूप से प्रस्तुत कर देगा।

गौरतलब है कि अमेरिका ने काउंटरिंग अमेरिकाज एडवर्सरीज थ्रू सेंक्शंस एक्ट (काटसा) के तहत रूस से रक्षा खरीद को प्रतिबंधित कर रखा है। यह प्रतिबंधित रूस के क्रीमिया पर कब्जे और अमेरिकी चुनाव में रूसी हस्तक्षेप के मद्देनजर लगाया गया है। काटसा के तहत अमेरिका उन देशों के खिलाफ भी कार्रवाई करेगा जो रूस से रक्षा सामग्री या खुफिया सूचनाओं का लेन-देन करते हैं। लेकिन भारत रूसी एस-400 ट्रिंफ एयर डिफेंस सिस्टम को खरीदने के लिए बिल्कुल तैयार दिख रहा है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram