अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी को कहा, अटल जी का नाम न ले बीजेपी !

दिल्ली का रामलीला मैदान की चर्चा अब पूर्व प्रधानमंत्री और  स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई का नाम जोड़े जाने से की जा रही है। यह प्रस्ताव भाजापा ने अटल जी को सम्मान देने के लिए कर रही है वहीं, रामलीला मैदान का नाम बदलने के लिए अब विवाद शुरू हो गया है और विपक्षी पार्टियां एक दूसरे के प्रस्ताव को मानने से साफ इंकार कर रहीं हैं। मिली जानकारी के मुताबिक इस प्रस्ताव को लेकर मंजूरी मिलना लगभग तय माना जा रहा है। इसके लिए 30 अगस्त को एमसीडी सभा की बैठक भी  की जाएगी,  जहां रामलीला मैदान में ‘अटल’ शब्द जोड़ देने की संभावना है।

दिल्ली के सीएम केजरीवाल प्रस्ताव को लेकर बीजेपी पर कसा तंज-

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी तीन बार देश के प्रधानमंत्री रह चुके है और भारत के लोग उन्हें सर्वप्रिय मानते हैं और उनका सम्मान करते हैं। वहीं, बीजेपी के प्रस्ताव पर देश के ज़्यादा से ज़्यादा लोग सहमत हैं और रामलीला मैदान का नाम अटल शब्द से जोड़ने के लिए स्वीकार रहे है। दूसरी ओर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी पर तंज करते हुए कहा कि रामलीला मैदान इत्यादि के नाम बदलकर अटल जी के नाम पर रख देने से वोट की गिनती बढ़ नहीं जाएगी। भाजपा को प्रधानमंत्री जी का नाम ही बदल देना चाहिए, तब शायद कुछ वोट मिल जाए क्योंकि अब उनके अपने नाम पर तो लोग वोट भी नहीं दे रहे हैं। वहीं केजरीवाल की बात को काटते हुए दिल्ली से विधायक और दिल्ली में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी बयान दिया कि ‘कुछ लोग जानबूझ कर भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे हैं मर्यादा पुरुषोत्तम राम भी सभी के लिए आराध्य हैं, ऐसे में रामलीला मैदान का नाम बदलने का सवाल ही नहीं उठता।

आपको बता दें कि अटल जी का नाम कई अन्य योजनाओं और स्थलों का नाम जोड़ने के लिए  उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने फैसला किया है। और इसी कड़ी में दिल्ली का हिंदूराव अस्पताल भी है जिसका नाम अटल बिहरी वाजपेयी के नाम पर रखने का प्रस्ताव किया गया है। अब 30 अगस्त को होने वाली सभा में इस प्रस्ताव पर चर्चा होगी और इन्हें पास किया जाएगा।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram