योगी आदित्यनाथ के लिए, उद्धव ठाकरे ने किया आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग

शिवसेना काफी दिनों से बीजेपी के पीछे पड़ी हुई है, और लगातार वह बीजेपी पर कटाक्ष किए जा रही है। इन सबके बीच BJP बहुत संभाल कर चल रही है, क्योंकि उसे शिवसेना का साथ अगर चाहिए, तो उसे सब कुछ बर्दाश्त करना पड़ेगा। भले ही महाराष्ट्र की राजनीतिक सरजमीं पर शिवसेना और बीजेपी का साथ हो लेकिन बयानबाजी में नेता पीछे हटते नहीं दिखाई दे रहे हैं।

क्या बोला उद्धव ठाकरे ने –

एक मीडिया कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से प्रश्न पूछा गया था कि पिछले 25 साल से भारतीय जनता पार्टी आपकी सहयोगी है क्या आपको इस बात का अफसोस है ?

इसका जवाब देते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपनी भाषा की सीमा को लांघते हुए जवाब दे डाला। उद्धव ठाकरे ने बोला की दुर्भाग्यपूर्ण है और कुछ बातों को लेकर अफसोस भी है क्योंकि BJP के नए नेता हिंदुत्ववादी आदर्श पर नहीं चलते। उन्होंने कहा कि सत्ता में जब से BJP आई है उसे इस बात का घमंड हो गया है और घमंड हर इंसान का टूटता है आने वाले समय में 28 मई को होने वाले पालघर लोकसभा उपचुनाव में घमंड और वफादारी के बीच फैसला होगा ।

योगी से ठाकरे क्यों हुए नाराज़-

उद्धव ठाकरे ने बताया कि शिवाजी महाराज की प्रतिमा के सामने जाने से पहले खड़ाऊ उतारना उनके प्रति सम्मान जाहिर करना है, और यह एक सामान्य प्रक्रिया है जो आजकल सभी करते हैं। जबकि योगी आदित्यनाथ ने ऐसा नहीं किया उनसे और क्या अपेक्षा की जा सकती है। यह शिवाजी महाराज का अपमान है और इसे शिवसेना कभी नहीं बर्दाश्त करेगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बताया गया कि उद्धव ठाकरे ने बोला कि शिवाजी महाराज की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते वक्त योगी आदित्यनाथ ने खड़ाऊं पहन रखा था और इसके लिए उनको चप्पलों से पीटना चाहिए।

एक के बाद एक लगातार जारी हैं कटाक्ष-

शिवसेना का बीजेपी पर हमला जब से जारी हुआ है जब से नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की मुहिम शुरू की थी उसके बाद शिवसेना ने बोला था कि “नोटबंदी ने आम लोगों को भिखारी बना दिया।” उसके बाद शिवसेना ने बोला कि “मोदी लहर फीकी पड़ गई है राहुल देश का नेतृत्व करने में सक्षम दिखाई दे रहे हैं।” उसके बाद शिवसेना का बयान आया था कि “विकास” तो पागल हो गया है।” वहीं पकौड़े वाले विवाद पर पूरा देश बीजेपी पर बरपा तो शिवसेना भी नहीं चूकी शिवसेना ने भी कहा कि पाकिस्तान के द्वारा की जा रही गोलीबारी में जवान शहीद हो रहे हैं और आप पकौड़े की बात कह रहे हैं”

फिर भी BJP हैं ठंडा ठंडा कूल कूल –

कुछ दिनों पहले देवेंद्र फडणवीस ने बयान दिया था कि शिवसेना ने आज तक पीठ में छुरा भोंकने का काम नहीं किया है। वहीं उद्धव ठाकरे ने इसके पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित बीजेपी के कई नेताओं पर हमला बोला है और इन सबके बीच BJP की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आती और अगर आती भी है तो बहुत संभाल कर आती है

हाल ही में हुए कर्नाटक चुनाव में जिस तरीके से उसे कुर्सी गंवानी पड़ी वह नहीं चाहती कि वह अपने संबंध शिवसेना से भी खराब करे, और अगर ऐसा ही चलता रहा तो बहुत जल्द ही शिवसेना भी अपने आप को अलग करने के लिए तैयार कर लेगी। उद्धव ठाकरे ने बोला है कि BJP के युवा नेताओं में हिंदुत्व के आदर्श नहीं दिखाई देते और यह हमें कतई बर्दाश्त नहीं कि कोई हिंदुत्व के आदर्शों का हनन करे।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram