ईद पर ममता बनर्जी ने दिया बयान कहा- हिंदुओं से प्यार करने का मतलब मुस्लिमों से नफरत करना नहीं

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज एक बैठक के दौरान कहा कि जो लोग मुझ पर हिंदू मुस्लिम के पक्षपात का आरोप लगाते हैं और वह कहते हैं कि मैं किसी एक पक्ष के प्रति ज्यादा झुकाव व्यक्त करती हूं तो उन लोगों के लिए मैं यह कहना चाहूंगी कि असल में वह लोग ना तो हिंदू समुदाय के हैं और ना ही मुस्लिम समुदाय के। ईद के इस मौके पर ममता बनर्जी ने कहा कि कुछ लोग कहते हैं कि “मैं हिंदुओं का पक्ष लेती हूं” उन लोगों से मैं एक सवाल करना चाहूंगी क्या हिंदुओं से प्यार करने का मतलब है कि आप मुस्लिमों से नफरत करते हो ? ममता बनर्जी ने कहा कि वह सभी धर्म के लोगों का सम्मान करती हैं और उन्हें प्यार करती हैं।

क्या कहा ममता बनर्जी ने – 

कोलकाता में आज ईद उल फितर का जश्न मनाया जा रहा है। जहां पर ममता बनर्जी ने एक बैठक में हिस्सा लिया। बैठक में प्रतिभाग करते हुए उन्होंने कोलकाता स्थित रेड रोड से संबोधन दिया। तृणमूल कांग्रेस पार्टी की प्रमुख ममता बनर्जी ने कहा कि “जो लोग मुझ पर आरोप लगाते हैं कि मैं मुस्लिमों का पक्ष लेती हूं तो ऐसे लोगों के लिए मैं कहना चाहूंगी कि असल में वह ना तो हिंदू के मित्र हो सकते हैं और ना ही मुसलमान के”। उन्होंने यह भी कहा कि “मैं सभी धर्म के लोगों का सम्मान करती हूं क्योंकि यह देश सबका है।” विदित है कि भारतीय जनता पार्टी के अलावा कुछ अन्य पार्टियों का भी मानना है कि ममता बनर्जी मुस्लिमों के प्रति सकारात्मक और पक्षधर भरा रवैया रखती हैं।

केंद्र सरकार पर भी साधा निशाना- 

बैठक को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने केंद्र की सरकार भाजपा को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि  “क्या भारतीय जनता पार्टी को नहीं पता था कि ” 16 जून को ईद का जश्न मनाया जाएगा ?” ममता बनर्जी ने कहा कि “16 जून को नीति आयोग की बैठक को क्यों रखा गया ?” उन्होंने यह भी कहा कि जब उन्हें इसके बारे में पता चला तो उन्होंने केंद्र सरकार से मीटिंग की तारीख को बदलने का आग्रह किया था और कहा था कि ईद के इस दिन पर मीटिंग ना करें ”

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली इस बैठक की मीटिंग को 16 जून की तारीख पर करने को तय किया गया था लेकिन ममता बनर्जी के अलावा कुछ अन्य मुख्यमंत्रियों ने भी ईद के दिन मीटिंग में उपस्थित होने के लिए असहमति व्यक्त की थी जिसके बाद बैठक को 17 जून तक के लिए रद्द कर दिया गया था।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram