उमर अब्दुल्ला ने 2019 के चुनाव के लिए दिया बड़ा बयान, जानिए क्या है मामला

उमर अब्दुल्ला का कहना है कि केन्द्र में बीजेपी को सत्ता से बेघर करने के लिए 2019 के लोकसभा चुनावों के प्रचारों में कांग्रेस को विपक्षी एकता की ‘धुरी’ तथा प्रमुख राहुल गांधी को इसे पूरा कर दिखाना होगा। अब्दुल्ला का कहना है कि अपने राज्यों में मजबूत क्षेत्रीय नेताओं की जिम्मेदारी इससे कम नहीं होने वाली है।  ‘‘आखिरकार केन्द्र में सरकार बनाने के लिए आपको 272 सीटों की जरूरत होगी जो क्षेत्रीय दलों को मिलने नहीं जा रही। यदि गैर-भाजपा सरकार बनाने के लिए इस आंकड़े तक नहीं पहुंचते हैं तो आप 100 सीटों के करीब होने के कारण कांग्रेस की तरफ देखेंगे’।

उमर अब्दुल्ला ने शुक्रवार को ममता बैनर्जी जो कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री है उनसे मुलाकात की और संभावित विपक्षी मोर्चा पर अपनी बात रखी। विपक्षी मोर्चा बनाने के लिए कार्य जल्द से जल्द किये जाएंगे लेकिन क्षेत्रीय दलों के नेताओं का एक वर्ग नहीं चाहता है कि कांग्रेस इसकी अगुवाई करे तथा वे एक गैर-भाजपा एवं गैर-कांग्रेस मोर्चा बनाने की बात कर रहे हैं। राहुल गांधी को विपक्ष का चेहरा बनाये जाने के मुद्दे पर अब्दुल्ला ने कहा कि सबसे बड़े विपक्षी दल का अध्यक्ष होने के नाते वह उम्मीद कर रहे हैं कि वह चुनाव अभियान की अगुवाई करेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित रूप से, हर कोई उम्मीद करेगा की राहुल गांधी 2019 में चुनाव अभियान में अगुवाई करे लेकिन याद रखना होगा कि सोनिया गांधी सप्रंग की नेता हैं।  इसलिए कोई भी उम्मीद करेगा कि सोनिया गांधी भी अभियान का हिस्सा होंगी’’।

राहुल गांधी की नेतृत्व क्षमता पर सवाल उठाने वालों पर निशाना साधते हुए अब्दुल्ला ने कर्नाटक में सरकार बनाने की कांग्रेस की भूमिका पर का उदाहरण दिया और कहा कि उन्होंने काफी परिपक्वता दिखाई है कि पार्टी का आधार कैसे बढ़ाना है

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram