एससी/एसटी एक्ट के खिलाफ कल सवर्णों का भारत बंद

मध्यप्रदेश के विभिन्न हिस्सों में पिछले एक सप्ताह से एससी-एसटी ऐक्ट में किए गए संशोधन के विरोध में आंदोलनों का दौर जारी है। आलम यह है कि बीजेपी और कांग्रेस के जन प्रतिनिधियों को जनाक्रोश का सामना करना पड़ रहा है। इसी के चलते मध्यप्रदेश में एससी/एसटी एक्ट के संशोधन के खिलाफ सवर्ण समाज ने 6 सितंबर गुरुवार को भारत बंद का आह्वान किया है। मध्य प्रदेश का प्रशासन पूरी तरह सतर्क है, कई जिलों में निषेधाज्ञा लागू किए जाने के साथ भारी पुलिस बल की तैनाती की जा रही है।

एससी/एसटी एक्ट के संशोधन में कल होगा भारत बंद-

आईजी इंटेलिजेंस मकरंद देउस्कर के अनुसार, सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट और पैम्फलेट को देखकर यह पता लगा कि कुछ छोटे संगठन एससी/एसटी एक्ट के खिलाफ भारत बंद करने की योजना कर रहे हैं, जिससे राज्य की सुरक्षा में सेंध लग सकती है। वहीं भारत बंद के दौरान होने वाले विरोध को देखते हुए राज्य के कई मंत्री जैसे यशोधरा राजे सिंदिया, ललिता यादव, नारायण सिंह कुशवाहा ने अपने सार्वजनिक कार्यक्रमों को निरस्त कर दिया है। और भारत बंद बुलावे को देखते हुए राज्य के 5 जिलों में धारा 144 लागू कर दी है। पुलिस महानिरीक्षक (कानून एवं व्यवस्था) मकरंद देउस्कर ने कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से और कई स्थानों पर सौंपे गए ज्ञापनों से पता चला है कि बुधवार को भारत बंद का आह्वान किया गया है। इसके मद्देनजर सुरक्षा के इंतजाम किए जाने के साथ कई जिलों में निषेधाज्ञा लागू की गई है। आपको बता दें कि 2 अप्रैल में दलितों द्वारा बुलाए गए भारत बंद में काफी ज्यादा स्तर पर हिंसा देखने को मिली थी और 4 लोग विरोध प्रदर्शन के भेंट चढ़ गए थे। राज्य के ग्वालियर-चंबल इलाके में अधिक मात्रा में हिंसा भड़की थी।

अब कल यानी 6 सितंबर को भारत बंद का ऐलान किया गया है। पिछले एक हफ्ते से हिंसा का प्रदर्शन जारी है और देश भर में प्रद्शनकारियों ने तोड़ फोड़ मचा रखी है। प्रशासन भी परेशान है और कल की होने वाली हिंसा को रोकने ने लिए पुलिस बल तैनात किए गए हैं।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram