कांग्रेस विधायक ने बीजेपी के नेता को मारा जोरदार थप्पड़, वायरल हुआ वीडियो

अब तक तो हमने राजनीति में बातों ही बातों में लड़ाई देखी थी लेकिन यह किस्सा तो और भी रंगीन हो गया है जब दो विपक्षी पार्टियां एक दूसरे पर हाथापाई पर उतर आई हैं। यह बात हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि हाल में ही कांग्रेस के नेता ने बीजेपी के नेता को एक जोरदार थप्पड़ मारा है। यह मामला मध्य प्रदेश के धार जिले का है वहां के कांग्रेस विधायक उमंग सिंगार ने भाजपा नेता और भाजपा व्यापारी प्रकोष्ठ के जिला सह संयोजक टांडा प्रदीप गादिया को थप्पड़ मार दिया और यह मामला अब तेजी से आग पकड़ रहा है और दोनों पार्टियों में अब बवाल मच गया है।

कांग्रेस विधायक ने बीजेपी के नेता को मारा थप्पड़-

मध्यप्रदेश के इस मामले में, राजनीति की सभी हदें पार कर दी है। दरअसल, शुक्रवार को मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा के आगमन के पहले टांडा के पास ग्राम बड़दा में सड़क किनारे बिजली के खुले तार की चपेट में आने से 8 वर्षीय बालिका पिंकी पिता भूरसिंह की मौत हो गई थी। इसके बाद उमंग सिंगार पीड़िता के परिवार से मिलने गए तो उन्हें पता चला कि प्रशासन की ओर से पहले 4 लाख की आर्थिक सहायता का चेक दिया जा रहा था। वहीं, इस पूरे मामले को लेकर कांग्रेस विधायक उमंग सिंगार और बीजेपी नेता प्रदीप गादिया के बीच विवाद बढ़ गया और दोनों हाथापाई पर उतर आए। इस दौरान बीजेपी सांसद सावित्री ठाकुर भी मौजूद थीं, और बात तब आगे बढ़ी जब बीजेपी नेता का कहना था कि चेक सावित्री ठाकुर के हाथों से दिलाया जाएगा। इसी मारपीट के दौरान किसी ने यह वीडियो बना लिया और यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है और लोगों के बीच विवाद फैला रहा है। अब यह मामला पुलिस थाने तक पहुंच चुका है और इस पर कार्यवाही भी शुरू हो गई है। बीजेपी नेता प्रदीप गादिया की शिकायत पर पुलिस ने मारपीट की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। वहीं, भाजपा नेता गादिया ने विधायक पर आरोप लगाया है कि उन्होंने और कांग्रेसी लोगों ने मारपीट की और जान से मारने की धमकी भी दी है तो दूसरी ओर विधायक सिंगार ने भी थाने में आवेदन देकर गादिया पर आरोप लगाया है कि उन्होंने जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए झूमाझटकी की औरे चेक छीनने की कोशिश की।

पुलिस ने दोनों पक्षों की आेर से आवेदन ले लिए हैं और कार्यवाही शुरु कर दी है। लेकिन इस तरह के राजनीतिक विवाद करना राजनीति के दायरे से बाहर है और मारपीट की तो बिल्कुल भी अपेक्षा नहीं की जाती है। अब इस मामले कि आग पूरे राजनीतिक दलों पर लग चुकी है और सब एक दूसरे पर आरोप लगाने पर तुले हुए हैं।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram