टीवी न्यूज़ चैनलों ने अटल बिहारी वाजपेई को जीते जी मार डाला

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी की तबियत नाजुक बताई जा रही है। वह दिल्ली के एम्स अस्पताल में पिछले दिनों से भर्ती हैं। AIIMS में अटल बिहारी वाजपेई को वेंटिलेटर में रखा गया है और उनकी हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है। 93 साल के अटल बिहारी वाजपेयी डिमेंशिया नाम की बीमारी से पीड़ित हैं। अटल बिहारी वाजपेई की तबीयत की पूरी जानकारी लेने के लिए न्यूज़ चैनल एम्स के बाहर इकट्ठा है और उनकी पल-पल की जानकारी ब्रेक करना चाहता है। इसी होड़ में न्यूज़ चैनलों ने तो पूरी जानकारी लिए बिना ही अटल बिहारी वाजपेई को निधन घोषित कर दिया।

न्यूज़ चैनलों ने वाजपेई को निधन घोषित किया-

टेलीविजन न्यूज़ चैनलों में सबसे पहले ब्रेकिंग न्यूज़ दिखाने की होड़ में आज अटल बिहारी वाजपेई को जीते जी निधन घोषित कर दिया। आज सुबह एम्स की तरफ से मेडिकल बुलेटिन जारी किया गया। इसमें वाजपेयी की हालत नाजुक बताई गई थी। जाहिर है पूरे देश और मीडिया भी पल पल की खरार जानना चाहता है, लेकिन खबर ब्रेक करने के चक्कर में कुछ टीवी चैनल्स ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की ग़लत खबरें चला दी। यह गलती करने में सबसे पहले रहा डीडी न्यूज। डीडी न्यूज ने दोपहर के लगभग 2.40 मिनट पर अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की खबर ब्रेक कर दी। हालांकि, तब तक एम्स या सरकार की तरफ से वाजपेयी के निधन को लेकर कोई खबर नहीं आई थी। जब डीडी न्यूज़ नया खबर अपने न्यूज़ चैनल पर चला दी तो उस खबर के आधार पर इंडिया टीवी ने भी वाजपेयी के निधन की खबर चलानी शुरू कर दी। इंडिया टीवी ने डीडी न्यूज के हवाले से खबर दी कि पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी का निधन हो गया है।

अपनी इस हरकत पर न्यूज़ चैनलों ने मांगी माफी-

अटल बिहारी वाजपेई के निधन की गलत न्यूज़ फैलाने के लिए न्यूज़ चैनलों ने अपने शर्मिंदा होने का भाव प्रकट किया और अपने इस गलत काम के लिए उन्होंने माफी भी मांगी। सरकारी न्यूज़ चैनल DD न्यूज़ से मिली इस खबर को सारे न्यूज़ चैनलों के चलाने के बाद सभी न्यूज़ चैनलों ने कुछ मिनटों में ही या न्यूज़ हटा दी और इस गलत रिपोर्टिंग के लिए भी माफी मांगी। टीवी चैनल के अलावा न्यूज पोर्टल्स ने भी इस अपुष्ट खबर को लाइव कर दिया। टाइम्स नाउ ने भी डीडी न्यूज की तरह वाजपेयी के निधन की खबर चला दी।

लेकिन इस तरह की गलतियां करना न्यूज़ चैनलों के लिए सही नहीं है क्योंकि लोग उन पर विश्वास करते हैं और उनकी बातों पर भरोसा करते हैं। DD न्यूज़ से तो यह उम्मीद बिल्कुल भी नहीं थी कि वह इस तरह की अफवाह फैलाएंगे क्योंकि यह सरकारी न्यूज़ चैनल है और जो भी न्यूज़ इस पर चलाई जाती है वह एकदम सत्य और उस न्यूज़ की पुष्टि जरूर रहती है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram