ट्विटर पर गैरमौजूद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को मिली कांग्रेस मुखिया राहुल गाँधी द्वारा -हैप्पी बर्थडे की बधाई , भविष्य के गठजोड़ की सुगबुगाहट तेज़

महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी के बीच संबंधों का सबसे दुखद दौर किसी भी व्यक्ति से छिपा नहीं है, जो कि पिछले कुछ महीनों से दोनों पक्षों के बीच चल रहा है। लेकिन इस खस्तेहाल के बीच, कांग्रेस शिवसेना के साथ संबंध बढ़ाने के प्रयासों में लगी हुई है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को उनके जन्मदिन पर बधाई दी। उन्होंने उद्धव ठाकरे के अच्छे स्वास्थ्य और खुशी के लिए ट्वीट किया।

राहुल गांधी की ओर से दी गई इस बधाई का राजनीतिक गलियारों में मायने निकाले जा रहे हैं। हालांकि, कांग्रेस और शिवसेना के बीच गहरे राजनीतिक और वैचारिक मतभेद हैं। कुछ दिन पहले ही सामना को दिये इंटरव्यू में उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी और उनकी सरकार पर कई हमले किये थे। उन्होंने कहा ‘2014 के जनमत का रुझान जनता की गलती नहीं बल्कि जनता से ठगी थी।’

 

प्रयास सिर्फ एकतरफा हो ऐसा भी नहीं है क्योंकि पिछले कुछ वक्त से शिवसेना भी राहुल गांधी की तारीफ करती नजर आई है। पिछले दिनों संसद में अविश्वास प्रस्ताव पर गांधी के भाषण की भी शिवसेना ने तारीफ की थी। शिवसेना की तरफ से उनका अभिनन्दन स्वरुप प्रवक्ता संजय राउत ने कहा था कि राहुल ने अपने भाषण से बीजेपी को जोर का झटका दिया है।

बता दें कि मॉनसून सत्र के दौरान विपक्षी दलों द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर भी शिवसेना ने सरकार का साथ नहीं दिया और सदन की बहस में भी हिस्सा नहीं लिया था। कुछ महीने पहले शिवसेना घोषणा कर चुकी है कि वह आगामी लोकसभा चुनाव अकेले लड़ेगी और अब अविश्वास प्रस्ताव में शिवसेना का साथ न मिलने पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राज्य के कार्यर्ताओं को आगामी चुनाव में एकला चलो रे का मन्त्र दे डाला है|

वास्तव में दोनों पार्टियां हिंदुत्व विचारधारा की आड़ में सत्ता पर अपना स्वामित्व चाहती है और इसके लिए वह अपने से विपरीत दलों के साथ जाने को भी तैयार है जिसमें जहाँ शिवसेना के पास कांग्रेस आती दिख रही तो उसके ऐसा करनी की प्रतीक्षा में भाजपा शरद पवार की एनसीपी से भी हाथ मिलाने को तैयार है हाँ लेकिन कल को क्षत्रप एकता का बिगुल बजा तो भाजपा हो या कांग्रेस , दोनों ही मुंह फुला कर बैठने को मजबूर हो सकते हैं क्योंकि दोनों से इतर शिवसेना -एनसीपी एक हो गई तो बस समीकरण उनका बनना तय है|

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram