नरेंद्र मोदी को आधार कार्ड के साथ राखी बांधने का सच

आज आधार कार्ड देश की सभी संस्थाओं में लागू कर दिया गया है यहां तक कि शिक्षा के क्षेत्र से लेकर बैंकिंग क्षेत्र में भी आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है लेकिन कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर एक पोस्ट बड़ी तेजी से वायरल हो रही है कि नरेंद्र मोदी को राखी बांधने के लिए भी आधार कार्ड को अनिवार्य किया गया था और इस खबर को लेकर कई अन्य पोस्ट भी की जा रही है। तो चलिए जानते हैं आज का रिपोर्टर की वायरल पड़ताल में इस पोस्ट का सच ।

आधार कार्ड के साथ ही गई थी स्कूली छात्रा – 

पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर रक्षाबंधन की एक तस्वीर बहुत तेजी से वायरल हो रही है जिसमें एक छात्रा नरेंद्र मोदी को राखी बांधते हुए नजर आ रही है और उसके हाथ में आधार कार्ड भी दिखाई दे रहा है इसे लेकर सोशल मीडिया पर तमाम कहानियां गढ़ी जा रही हैं, कि नरेंद्र मोदी ने नया नियम लगाया था कि जिन लोगों के पास आधार कार्ड नहीं होगा वह बहनें नरेंद्र मोदी को राखी नहीं बांध पाएंगी, लेकिन जब आज के रिपोर्टर ने इस पोस्ट की पड़ताल की तो मामला कुछ और ही समझ आया। जी हां इस पोस्ट की पड़ताल करने के बाद जो बातें सामने आई वह बिल्कुल जायज हैं, दरअसल जिन स्कूली छात्राओं को स्कूल की तरफ से ID कार्ड नहीं दिया गया था उनके लिए कहा गया था कि वह अपनी किसी एक ID प्रूफ के साथ आएं, क्योंकि प्रधानमंत्री की सुरक्षा हेतु यह नियम रखे गए थे, जिस वजह से छात्रा अपना आधार कार्ड लेकर आई थी और वह उसे कहीं रखने के बजाय हाथ में ही पकड़ी हुई थी। जबकि सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि नरेंद्र मोदी ने आधार कार्ड को भी अनिवार्य किया था।

अतः आज का रिपोर्टर के द्वारा की गई इस वायरल पड़ताल में यह बात सामने आई कि जिस लड़की के हाथ में आधार कार्ड दिख रहा है वह केवल एक ID प्रूफ के तौर पर साथ में लाया गया था ना कि उसे अनिवार्य किया गया था। आज का रिपोर्टर देश के सभी लोगों से निवेदन करता है कि किसी भी ऐसी पोस्ट को शेयर करने से बचें और जागरूक रहें।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram