नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तानी आर्मी चीफ के गले लगने पर भाजपा नेता ने कहा सिद्धू को फांसी की सज़ा होनी चाहिए

हाल में ही पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री बने हैं पीटीआई के प्रमुख और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान। पाकिस्तान के इस्लामाबाद में हुए इमरान खान के शपथ समारोह में नवजोत सिंह सिद्धू अपने दोस्त को बधाई देने पहुंचे थे। सिद्धू के पाकिस्तान जाने से पहले ही विवाद शुरू हो गया था लेकिन अब इस मुद्दे पर विवाद अपनी चरम सीमा पर पहुंचा हुआ है। वहीं, सिद्धू समारोह में पहुंचे, वहां शामिल भी हुए, और उन्होंने  पाक आर्मी चीफ को गले भी लगा लिया। यहां से मुद्दा और भी गंभीर हो गया और सभी जगह नवजोत सिंह सिद्धू की थू-थू हो रही है।

सिद्धू ने पाकिस्तान के आर्मी चीफ को लगाया गले-

नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान के राष्ट्रपति भवन पहुंचकर वहां के आर्मी चीफ से तकरीबन 1: 30 मिनट तक बातचीत की और उसके बाद उन्होंने गर्मजोशी से उन्हें गले लगा लिया। इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान जाकर ऐसा कारनामा कर दिखाया कि पूरे देशभर में उनका विरोध हो रहा है। यहां तक की उनकी पार्टी कांग्रेस ने भी उनके इस बर्ताव से किनारा कर लिया है और वो सिद्धू से काफी नाराज भी हैं। वहीं इस पूरे मुद्दे पर भाजपा नवजोत सिंह सिद्धू और कांग्रेस को अपने निशाने पर साधे हुए है। नवजोत सिंह सिद्धू की इस हरकत पर कांग्रेस भी नवजोत से खफा है। कांग्रेस प्रवक्ता राशिद अल्वी ने कहा कि ‘यदि वह मुझसे सलाह लेते, तो मैं उनको पाकिस्तान जाने से रोकता। वह दोस्ती के नाते गए हैं, लेकिन दोस्ती देश से बड़ी नहीं है। सीमा पर हमारे जवान मारे जा रहे हैं और ऐसे में पाकिस्तान सेना के चीफ को सिद्धू का गले लगाना गलत संदेश देता है।

भाजपाई नेता ने कहा नवजोत सिंह सिद्धू को हो फांसी-

नवजोत सिंह सिद्धू की इस हरकत पर पूरा देश उनसे नाराज है और सब उनके इस कारनामे पर थू थू कर रहे हैं। वहीं इस पूरे मुद्दे को लेकर भाजपा अपना निशाना कांग्रेस पर जमाए बैठे हैं। तो वहीं अमरोहा के भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा के नेता आफताफ आडवाणी ने सिद्धू को फांसी की सजा देने की मांग की है। आफताफ ने यह भी कहा कि सिद्दू पाकिस्तानी लवर हैं  और उन्हें पाकिस्तान चले जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सिद्धू की यह हरकत भारत के लोग कभी माफ नहीं करेगें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता ने अटल बिहारी वाजपेयी के अंतिम संस्कार से ज्यादा पाक पीएम इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में जाना जरूरी समझा। आफताफ ने कहा कि अटल बिहारी जैसी महान विभूति के अंतिम संस्कार में ना जाकर पाकिस्तान जाना ये देश द्रोह से कम नहीं है। ऐसे व्यक्ति को मैं चाहूंगा कि भारत की सरकार देशद्रोह का मुकदमा चलाए और अगर हो सके तो फांसी दे देनी चाहिए।

वहीं इस पूरे मुद्दे को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू का कोई भी बयान अभी तक सामने नहीं आया है उन्होंने इस मुद्दे को लेकर अपनी चुप्पी शादी हुई है। तो वहीं भाजपा लगातार कांग्रेस के नेताओं पर निशाना साध रही है और कांग्रेस को देश विद्रोही बता रही है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram