नहीं रहे 10 बार बन चुके MP और लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी

यह हमारे देश के लिए बहुत ही दुखद खबर है कि लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी का सोमवार को निधन (13 अगस्त 2018) हो गया। एक लंबी बीमारी के बाद उनका निधन 89 वर्ष की उम्र में हो गया। 10 अगस्त को उनके गुर्दे की बीमारी के बाद कोलकाता के भर्ती कराया गया लेकिन उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ। उसी अस्पताल में उन्होंने अपनी आखिरी सांसे ली। लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी का सोमवार को निधन हो गया। पूर्व लोक सभा स्पीकर के निधन पर पूरे देश को खेद है और देश के जाने-माने हस्ती जैसे नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, रामनाथ कोविंद सबने अपना दुख प्रकट किया है। सोमनाथ चटर्जी लोकसभा के 10 बार सदस्य चुने गए थे। 1996 में उन्हें उत्कृष्ट सांसद चुना गया था।

सोमनाथ चटर्जी  के बारे में-

सोमनाथ चटर्जी का जन्म 25 जुलाई 1929 को असम के तेजपुर शहर में हुआ था। उनके पिता का नाम बंगाली ब्राह्मण निर्मल चंद चटर्जी और माता का नाम वीणापाणि देवी था। उनके पिता एक प्रतिष्ठित वकील, और राष्ट्रवादी हिंदू जागृति के समर्थक थे और अखिल भारतीय हिंदू महासभा के संस्थापकों में से एक थे। उन्होंने अपनी बारहवीं तक की पढ़ाई कोलकाता से की उसके बाद उन्होंने आगे की पढ़ाई के लिए ब्रिटेन जाना पसंद किया। उन्होंने ब्रिटेन में मिडल टेंपल से लॉक करने के बाद कोलकत्ता हाईकोर्ट में प्रैक्टिस की। फिर उसके बाद उन्होंने राजनीति में शामिल होने का फैसला कर लिया। सोमनाथ चटर्जी एक अच्छे वक्ता के नाम से भी जाने जाते हैं। वह भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के प्रमुख नेताओं में से थे। उन्होंने संसदीय प्रणाली की सर्वोच्च संवैधानिक पदों में से एक लोकसभा अध्यक्ष के पद को सुशोभित किया था।

सोमनाथ चटर्जी राजनीतिक सफर-

सोमनाथ चटर्जी ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत 1968 में सीपीएम के साथ की और 2008 तक वह इस पार्टी से जुड़े रहे। 1971 में वह पहली बार संसदीय अध्यक्ष चुने गए फिर साल 2004 में वह 14वीं बार लोकसभा मैं दसवीं बार निर्वाचित किए गए। उन्होंने 35 वर्षों तक सांसद के रूप में देश की सेवा की। साल 1996 में उन्हें सर्वश्रेष्ठ सांसद के पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया था।  सितंबर 2006 में सोमनाथ चटर्जी को अबुजा, नाइजीरिया में राष्ट्रमंडल संसदीय संघ का अध्यक्ष चुना गया था। सोमनाथ चटर्जी के प्रयासों से ही 24 जुलाई 2006 से 24 घंटे का लोकसभा टेलीविजन शुरू किया गया था।

लोकसभा के पूर्व स्पीकर सोमनाथ चटर्जी के निधन पर पूरे देश सदमे में है और उन जैसा श्रमिक नेता पाना इस देश के लिए बहुत मुश्किल है। पूरा देश उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना कर रहा है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram