निषादों के बिना नहीं बनेगी सरकार : सन ऑफ़ मल्लाह

4b65621f-ccb3-4c2f-afd5-3fd67291a6dd

माना जाता है बिहार में हर चुनाव जातिवाद के आधार पर होता है | ऐसी किवदंती है की कुर्मी समाज के मसीहा नितीश कुमार है तो कोयरी समाज के उपेन्द्र कुशवाहा, वहीँ पासवान समाज के रामविलास पासवान तो यादवों के लालू यादव | ऐसी स्थिति में निषादों की अपनी पार्टी और नेतृत्व नहीं होने की वजह से हमें अपना अधिकार नहीं मिल रहा था | ऐसी स्थिति में निषाद विकास संघ भी अपनी पार्टी बनाने एवं निषादों के अधिकारीं और हक़ की बात करने वालों के साथ चुनाव पूर्व तथा चुनाव पश्चात गठबंधन के संभावनाओं को लेकर होटल मौर्या में बैठक का आयोजन किया गया था | जिस में संघ ने अपनी आगामी रणनीति तथा कार्यक्रम पर विस्तृत चर्चा की, जिसमें कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गये | बैठक की अध्यक्षता संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सन ऑफ़ मल्लाह श्री मुकेश सहनी ने की |

बैठक में पत्रकारों को संबोधित करते हुए सन ऑफ़ मल्लाह ने कहा जो निषादों के हक़ की बात करेगा गटबंधन उसी के साथ होगा | संगठन जल्द ही अपनी पार्टी लेकर बिहार की जनता एवं अपने समाज के बीच आ रही है | अगर सरकार हमारी मांग पूरी करती है तो ठीक वरना सभी 40 सीटों पर चुनाव लड़ने पर पीछे नहीं हटेगा निषाद समाज |

उन्होंने कहा की पिछले कुछ महीनो में निषाद समाज आरक्षण के लिए कई विशाल कार्यक्रम किये गए | सर्वप्रथम 10 मार्च 2018 को निषाद विकास संघ के तत्वाधान में बिहार के प्रत्येक जिला मुख्यालय पर आरक्षण के लिए एकसाथ धरना-प्रदर्शन कर हमने आर-पार की लड़ाई का ऐलान किया था | साथ ही 11 मार्च को एक विशाल मोटरसाइकिल महारैली मुज़फ्फापुर में निकालकर हमने आरक्षण के लिए निषाद एकता की चट्टानी मजबूती का एहसास करवाया | तत्पश्चात 8 अप्रैल को मोतिहारी में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के विरोध में चीनी बिना चाय मोटरसाइकिल महारैली में बिहार के निषाद समाज ने अपने इरादे साफ़ कर दिए |

पुन 13 मई को मुंगेर में चिलचिलाती धुप में हजारों की संख्या में निषादों ने मोटरसाइकिल महारैली में भाग लेकर निषादों के प्रभाव का एहसास करवाया | इन महारैलियों में हजारों की संख्या में बाइक के साथ भाग लेकर हमने निषाद आरक्षण के लिए आन्दोलन की विशालता दिखाई | तत्पश्चात 10 जून को बेगूसराय में 42 डिग्री की चिलचिलाती धूप में निषाद विकास संघ द्वारा SC/ST आरक्षण विशाल मोटरसाइकिल महारैली का आयोजन किया गया | पुनः 1 जुलाई को दरभंगा में मुसलाधार बारिश में भी विशाल मोटरसाइकिल महारैली का आयोजन कर निषादों का डंका बजाया है |

मुकेश सहनी ने कहा की आगामी 25 जुलाई को पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में वीरांगना फूलन देवी शहादत दिवस समारोह सह महिला पदाधिकारी सम्मलेन का आयोजन किया जा रहा है | उन्होंने जानकारी दी की 26 जुलाई से पुरे बिहार में घर वापसी अभियान चलाया जाएगा | इसके तहत दूसरी पार्टी में शामिल निषाद भाइयों को फुल का गुलदस्ता देकर निषाद विकास संघ में शामिल करवाया जाएगा | साथ ही आरक्षण नहीं मिलने की स्थिति में 26 अगस्त से पटना में हम ‘निषाद आरक्षण संवाद यात्रा’ की शुरुआत करेंगे | इसके तहत प्रदेश के प्रत्येक जिले में समाज के लोगों के बीच जाकर हक़-अधिकार की लड़ाई को घर-घर तक पहुँचाया जाएगा | साथ ही 7 अक्टूबर को पटना के गाँधी मैदान में लाखों लोगों की उपस्थिति में ‘निषाद आरक्षण महारैला’ कर पार्टी के नाम की घोषणा की जाएगी |

उन्होंने कहा की मालूम चला है की, ”भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह बिहार आए हैं तथा माननीय मुख्यमंत्री श्री नितीश कुमार के साथ ब्रेकफास्ट और डिनर कर रहे हैं | मगर इससे कुछ नहीं होने वाला | उन्होंने 2015 में निषाद समाज को आरक्षण तथा हक-अधिकार देने का जो वादा किया था | अगर उसे पूरा नहीं किया तो आगामी चुनाव में बिहार से उनका सफाया हो जाएगा |

इस अवसर पर संघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री राजभूषण चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष श्री अशोक चौहान, प्रदेश युवाध्यक्ष श्री गौतम बिन्द, प्रदेश महिला अध्यक्ष श्रीमती निर्मला सहनी, मोतिहारी जिलाध्यक्ष श्री मोतीलाल सहनी, शेखपुरा जिलाध्यक्ष श्री पप्पू चौहान, प्रदेश उपाध्यक्ष श्री मोतीलाल सहनी, सहरसा जिलाध्यक्ष श्री दिनेश निषाद, मधेपुरा जिलाध्यक्ष श्री संजय कुमार सहनी, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव श्री छोटे सहनी तथा श्याम बिहार बिन्द सहित संघ की कोर कमिटी के तमाम सदस्य उपस्थित रहे |

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram