न हर चमकती हुई चीज सोना होती है, न हर कैदी सत्याग्रही – सुशील मोदी

वर्तमान समय मे कटाक्ष एवं तंज कसने के लिए सोशल मीडिया एक मुफीद मंच है, जहां आप अपने विरोधी खेमे पर हमला भी कर सकते है। चारा घोटाले में दोषी करार दिए जाने के पश्चात बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव जेल में है। इस दौरान 30 दिसंबर को उनके ट्विटर एकाउंट से एक ट्वीट किया जाता है जिसमे यह पूछा जाता है कि “सोने को तपाया जाता है तो क्या होता है?” इस प्रश्न के माध्यम से लालू और सोने की तुलना की गयी है।

राजद सुप्रीमो के इस सवाल के जवाब में बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि ” न हर चमकती हुई चीज सोना होती है, न हर कैदी सत्याग्रही…” और इसके साथ ही उन्होंने कुछ राजद सुप्रीमो सहित कुछ ऐसे राजनेताओं के नाम भी लिए जो देश के विभिन्न जेलों में अपने गुनाहों की सजा काट रहे है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि ये लोग कोई राजनीतिक बंदी नहीं है।

ये भी पढ़ेंनए साल की सौगात – उर्वरक सब्सिडी सीधे किसानों के खाते में

भोजपुरी में अश्लीलता- कौन जिम्मेदार?

सुपरस्टार रजनीकांत का राजनीति में आने की घोषणा

अब इस में देखने वाली बात ये होगी कि 3 जनवरी 2018 को कोर्ट लालू को कितनी सजा सुनाता है। फिलहाल सुशील मोदी के इस ट्वीट पर कोई प्रतिक्रियात्मक ट्वीट नहीं किया गया है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram