पाकिस्तानी आतंकी आका हाफीज सईद की पार्टी को नहीं मिली मान्यता तो चुनाव लड़ने हेतु निकली यह तरकीब

पाकिस्तान का सबसे बड़ा आंतकवादी सरगना या कहे तो मुल्ला जनरल हाफीज सईद को बहुत बड़ा झटका लगा है क्योंकि पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने उसकी पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग को मान्यता प्रदान नहीं की है |

इस बात से उसके पोलिटिकल एजेंडे को झटका लगा है लेकिन मजबूर होकर सईद ने अल्लाहू अकबर तहरीक (एएटी) पार्टी के बैनर के तले लड़ने की रणनीति बनाई है | एएटी एक निष्क्रिय पार्टी है और सईद के मुख्य संगठन जमात -उद- दावा से जुड़े सूत्रों के मुताबिक एमएमएल अध्यक्ष सैफुल्लाह खालिद इस सिलसिले में घोषणा जल्द करेंगे |

सईद ने राजीनीतिक पार्टी का गठन तो बना लिया पर बाहरी दबाव में आकर नवाज़ शरीफ सरकार ने तमाम कोशिशों की जिसके बाद उसे मान्यता नहीं मिल पायी | जियो टीवी के वरिष्ठ पत्रकार मिर्ज़ा हाकिम के मुताबिक हफ़ीज़ को यह बात पहले से सरकार द्वारा बता दी गयी थी कि यदि उसकी पोलिटिकल पार्टी बानी तो अमेरिका की तरफ से सरकार पर प्रतिबन्ध लग जायेगा और उसको भी आतंकी सहायता मिलनी बंद हो जाएगी जिससे कश्मीर मिशन खतरे में पड़ जायेगा |

आपको बता दें कि यह बात किसी से नहीं छुपी है कि दाऊद इब्राहिम हो या हाफीज सईद सभी को पाकिस्तान ने खुलेआम पना दी है क्योंकि यही लोग प्रॉक्सी वॉर के ज़रिये पाकिस्तान के लिए भारत विरोधी आतंकवादी एजेंडा चलवाते है | 26 /11 मुंबई आंतकवादी हमले का मुख्य आरोपी हाफिज सईद सरकार द्वारा पिछले साल नज़रबंद भी किया गया था पर जब मामला कोर्ट में पंहुचा तो सबूतों के अभाव में बरी कर दिया गया था इसलिए जैसे शरीफ को अयोग्य घोषित किया गया उसने पोलिटिकल पार्टी बनाकर राजनीती में अपनी पकड़ बनाने के लिए तैयारी शुरु कर दी लेकिन उसके खतरे को भांपते हुए सरकार ने उसके खिलाफ पुरे तंत्र का इस्तेमाल किया और उसकी मान्यता मिलने की मंसूबे पर पानी फेर दिया |

अमेरिका में डोनाल्ड ट्रम्प सरकार के आने के बाद से जमात -उद -दावा को आंतकवादी संगठन घोषित कर दिया गया और उसकी विदेशी फंडिंग पर रोक लगवा दी गयी जिसके नतीजन उसकी गतिविधियों में कमी आयी है |

अब देखना होगा कि दूसरे के बैनर में लड़ने से क्या हफ़ीज़ सईद को आगामी चुनावो में सत्ता का भोग मिलता है या नहीं 

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram