महिला आरक्षण बिल के बहाने कांग्रेस अध्यक्ष ने लिख डाला पीएम मोदी को चिट्ठी

Capture 2

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने संसद के मॉनसून सत्र में महिला आरक्षण बिल लाने के लिए प्रधान मंत्रीनरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। अपने पत्र में  राहुल ने कहा है कि कांग्रेस संसद में इस विधेयक का समर्थन करेगी। राहुल के इस पत्र को बीजेपी के तीन तलाक विधेयक के जवाब के रूप में देखा जा रहा है। दरअसल, बीजेपी इस सत्र में तीन तलाक पर एक बिल पेश करने की भी योजना बना रही है और इसके लिए उसने विपक्षी दलों से समर्थन मांगा है। संसद का मानसून सत्र 18 जुलाई से 10 अगस्त तक चलेगा।

राहुल गांधी ने इस पत्र में लिखा था कि महिलाओं को महिला आरक्षण विधेयक के तहत संसद और विधानसभा में 33 प्रतिशत आरक्षण प्राप्त करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पिछले साल सरकार को एक पत्र भी लिखा था।

राहुल ने कहा कि महिलाओं के आरक्षण बिल के लिए जागरूकता और सार्वजनिक समर्थन प्राप्त करने के लिए कांग्रेस पार्टी द्वारा एक अभियान आयोजित किया गया था। इस अभियान के तहत इस बिल के समर्थन में 32 लाख महिलाएं और पुरषों द्वारा हस्ताक्षर किए गए थे। एक तरफ चिट्ठी से शीलतापूर्वक मांग रखने के बाद ट्विटर के माध्यम से पीएम मोदी पर ट्वीट करते हुए कहा कि उन्हें अब दलगत राजनीति से ऊपर उठकर अपने कहे पर कार्य करना चाहिए जिसके लिए हम उन्हें अपना समर्थन देने की पेशकश करते है और कांग्रेस यह उम्मीद की जाती है कि मानसून सत्र में महिला आरक्षण बिल पारित किया जाएगा।

आपको बता दें कि महिला आरक्षण बिल लंबे समय से अटक गया है। 1996 में तत्कालीन प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा के कार्यकाल के दौरान, यह बिल संसद में पेश किया गया था। 2010 में राज्यसभा पारित करने के बाद, यह बिल लोकसभा में पारित नहीं किया जा सका। 1993 में पंचायत और शहर निकाय में सीटों में से एक तिहाई संविधान में 73 वें और 74 वें संशोधन के माध्यम से महिलाओं के लिए आरक्षित की गई|

वास्तव में तो चुनावी मौसम में महिलाओ की हितैषी बनने की गन्दी दौड़ है जिसमे भाजपा मुस्लिम महिलाओं को ट्रिपल तलाक़ बिल के ज़रिये लुभाने की कोशिश कर रही है तो वहीँ कांग्रेस पार्टी अटके महिला आरक्षण बिल के ज़रिये मोदी सरकार की महिला विरोधी छवि दिखाकर खुद को इस वर्ग के लिए विकल्प बताता है परन्तु विडंबना तो यह है कि वास्तव में सदन के पटल पर इन दोनों प्रमुख दलों के नेता महिला शब्द लेते तक नहीं तो आरक्षण खाक आएगा ?

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram