विहिप से लड़ने के लिए प्रखर हिंदूवादी नेता प्रवीण तोगड़िया ने शुरू की अपनी “अहिप “

प्रखर हिंदूवादी नेता व पूर्व विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) प्रमुख डॉ प्रवीण तोगडिया ने रविवार को अपना नया संगठन ‘अंतरष्ट्रीय हिंदू परिषद’ बनाया है। इस अवसर पर पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा, “नई टीम बनाई गई है, वह अपना काम करेगी। टीम बदल गई है लेकिन शैली नहीं बदली है।”

रिपोर्टों के मुताबिक, तोगड़िया मंगलवार यानी 26 जून को अयोध्या में रामलाला के दर्शन करने जाएंगे। इसके अलावा वह भाजपा के खिलाफ भी रैली करेंगे।

इस समय के दौरान तोगडिया ने घोषणा की कि अंतर्राष्ट्रीय हिंदू परिषद, संगठन देश-विदेश के सभी जातियों, व्यवसायों, भाषाओं, राज्यों, पंथ, के हिन्दुओं के सामाजिक, धार्मिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक अधिकारों के लिए काम करेगा। विहिप से लड़ने के लिए उसी के तर्ज़ पर अहिप  के साथ राष्ट्रीय बजरंग दल, राष्ट्रीय किसान परिषद, राष्ट्रीय श्रम परिषद (40 से अधिक वर्षों के लिए), ओजस्विनी (युवा महिलाओं के लिए) और राष्ट्रीय छात्र परिषद (छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के लिए) अन्य संगठनों की भी घोषणा की गई। हम आपको बता दें कि अंतर्राष्ट्रीय हिंदू परिषद के देश भर में 500 से अधिक जिलों होंगे।

उन्होंने बताया कि पहले से चल रहे हिंदू हेल्प लाईन, इंडिया हेल्थ लाईन, एक मुट्ठी अनाज, हिंदू एडवोकेट्स फोरम और यूथ सोशिओ-इकनॉमिक डेवलपमेंट फोरम आदि कार्य भी शुरू रहेंगे।

उल्लेखनीय है कि तोगड़िया ने कहा था कि 27 मई को उनका नया संगठन गठित किया जाएगा। उस वक़्त तोगडिया ने नरेंद्र मोदी सरकार की आलोचना की थी कि उन्होंने अपने वादे से पीछे हटने और जनता की अपेक्षाओं को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया था। उन्होंने मोदी सरकार के प्रदर्शन के लिए 25 प्रतिशत की रेटिंग दी थी और कहा था कि प्रधानमंत्री की विदेश नीति बेहद निराशाजनक है।

तोगड़िया ने 14 अप्रैल को वीएचपी तब छोड़ दिया जब  उनके समर्थित उम्मीदवार राघव रेड्डी को अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रपति पद के लिए गुड़गांव में हिमाचल प्रदेश के पूर्व गवर्नर वीएस कोक्जे ने पराजित किया था।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram