संघ और गडकरी के ऊपर जेएनयू के छात्र ने लगाया पंतप्रधान मोदी की हत्या की साज़िश रचने का बेबुनियाद आरोप

जेएनयू छात्र संघ की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद के केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को लेकर किए गए ट्वीट पर विवाद बढ़ गया है। शेहला ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और आरएसएस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचने में शामिल होने का बेबुनियाद और सनसनीखेज आरोप लगाया है। आरोपों को लेकर शेहला और नितिन गडकरी के बीच ट्विटर पर जंग छिड़ गई। इन आरोपों से नाराज केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का ट्विटर पर‌ जवाब‌ आया की, मैं कानूनी कार्रवाई करने जा रहा हूं, ”मैं उन असामाजिक तत्वों के खिलाफ हूं,‌ जिन्होंने मुझपर पीएम मोदी को डराने के लिए हो रही हत्या की साजिश के मामले को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की है।” आपको बता दें कि, शेहला रशीद ने ट्वीट किया‌ है कि, ”आरएसएस और नितिन गडकरी पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रच रहे हैं। इनको देखो, फिर मुसलमानों और कम्युनिस्टों पर आरोप लगाओ। साथ ही शेहला ने गडकरी के बयान पर ट्विटर से पलटवार किया कि, दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के नेता एक व्यंगात्मक ट्वीट से उत्तेजित हो गए। जरा सोचिए एक बेकसूर छात्र उमर खालिद और उनके पिता को कैसा लगा होगा जब टाइम्स नाउ की तरफ से झूठे आरोप पर उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा था। गडकरी राहुल शिवशंकर पर कार्रवाई करेंगे क्या?” शेहला रशीद के इस ट्वीट के बाद तमाम लोगों ने सोशल मीडिया पर इसकी आलोचना की थी।

कौन हैं शेहला रशीद?
शेहला रशीद जेएनयू छात्रसंघ की उपाध्यक्ष रह चुकी हैं। शेहला साल 2016 में तब चर्चा में आई थीं जब जेएऩयू छात्रसंघ कन्हैया कुमार पर देशद्रोह का आरोप लगा था। उस वक्त शेहला रशीद कन्हैया के समर्थन में हो रहे विरोध प्रदर्शनों का चेहरा बनी थीं। शेहला श्रीनगर की रहने वाली हैं, इस समय शेहला पीएचडी कर रही हैं और साल 2019 के लोकसभा चुनाव में उतरने का संकेत दे चुकी हैं।

पुणे के भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले में गिरफ्तार नक्सली नेताओं से बरामद किए गए ईमेल और हार्ड डिस्क से मिले व्हिडीओज से और साथ ही मिली चिट्ठी से पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश का खुलासा हुआ था। जिसके बाद शेहला का यह ट्वीट सामने आया। 8 जून को राजीव गांधी की तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचने का खुलासा हुआ था।


शेहला के इस आरोप के बाद जहां केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी थी। तुरंत हीे बाद शेहला ने अपना बचाव किया और अपने आरोप को सिर्फ एक मजाकिया ट्वीट करार दिया।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram