अकेले लोकसभा चुनाव लड़ने की सोच रही हैं मायावती

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले ही राजनीतिक पार्टियों में उथल-पुथल देखने को मिल रही है। जहां एक और महागठबंधन के द्वारा BJP को करारी शिकस्त देने की बात कही जा रही थी तो वहीं अब खबर यह आ रही है कि मायावती अकेले ही सारा जिम्मा उठाने जा रही हैं। जी हां एक नई खबर सामने आ रही है जिसमें मायावती ने बयान दिया है कि आने वाले समय में वह गठबंधन का बंधन छोड़कर अकेले चुनावी मैदान में भी उतर सकती हैं।

क्या है मायावती का बयान – 

मायावती ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बीजेपी पर हमला बोला है और कहा है कि आने वाले समय में वह बीजेपी को जरूर एक नया सबक सिखाएंगी। साथ ही साथ उन्होंने एक नया बयान यह भी दिया है कि अगर लोकसभा चुनाव 2019 में गठबंधन के दौरान उन्हें चुनाव लड़ने के लिए सम्मानजनक सीटें नहीं मिलती हैं तो बसपा अकेले ही चुनावी मैदान में उतरेंगी। मायावती ने कहा है कि इसके लिए उनकी पार्टी की पूरी तैयारी भी है। वहीं उन्होंने 2014 के चुनाव का भी जिक्र करते हुए कहा कि 2014 में उनकी पार्टी का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है, 2019 में यह चुनावी प्रदर्शन का आंकड़ा बढ़ाने की पूरी कोशिश रहेगी।

मायावती ने भीम आर्मी पर भी सफाई देते हुए कहा है कि उनका ऐसे किसी संगठन के साथ कोई भी रिश्ता नहीं है चंद्रशेखर राव अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए उनसे अपने रिश्ते जोड़ना है मायावती ने ऐसे संगठनों पर भी कड़ी टिप्पणी की और कहा कि दलितों की सेवा के नाम पर ऐसे संगठन बनते हैं जो सेवा की आड़ में धंधा चलाने मात्र का एक जरिया होता है। मायावती ने यह भी कहा कि सहारनपुर हिंसा में आरोपी चंद्रशेखर मुझसे रिश्ता दिखा रहा है, जबकि मेरा सिर्फ गरीबों से रिश्ता है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram