NRI पतियों के लिए खास खबर है, पत्नियों को छोड़ना पड़ सकता है भारी…

ख़बर कुछ यूँ है दोस्तों की विदेश मंत्रालय एक ऐसे पोर्टल पर हाथ आजमा रहा है, जो भागे हुए एन.आर.आई हुस्बैंड्स के खिलाफ जारी समन, वारंट निकलने में सहायता करेगा और यदि गुन्हेगार इसका कोई जवाब नहीं देगा तो उसे यकीनन अपराधी घोषित कर दिया जाएगा और उसकी सारी संपत्ति छीन ली जाएगी। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज जी का कहना है कि इस पोर्टल के लिये दंड प्रक्रिया संहिता में संशोधन करा जाएगा। सुषमा स्वराज ने बताया कि कानून मंत्रालय, विधानसभा, गृह मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भी इस बात से सहमत हैं। सुषमा के मुताबिक इस पोर्टल की मदद से ऐसी एनआरआई शादियों को रोक जाएगा जिसमें पति विवाह के बाद अपनी पत्नियों को या छोड़कर फरार हो जाते हैं या उन्हें हर प्रकार के तनाव से पीड़ित कर परेशान करते हैं।

जनवरी 2015 से नवंबर 2017 में लगभग 3,328 शिकायतें मिली हैं। मंत्रालय का कहना कि धोखाधड़ी के इन मामलों को और ऐसे विवाह को रोकने के लिए ये पोर्टल लाया गया है, जहां फरार एनआरआई पतियों के खिलाफ समन और वांरंट को तामील माना जाएगा और अगर आरोपी इसका जवाब में असमर्थ रहेगा तो उसे वांछित अपराधी घोषित कर दिया जायेगा और उसकी सारी इनकम ‘‘जब्त ’’ की जाएगी।

शादियों और महिलाओं तथा बच्चों की अवैध रूप से चोरी पर आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन में सुषमा ने यह बात पेश कि वे अगली कैबिनेट बैठक में संशोधन प्रस्ताव सबके सामने रख कर संसद के अगले सत्र में इसे पारित कराने की कोशिश करेंगी।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram