पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट से पूर्व तानाशाह राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ को मिली यह राहत

पाकिस्तान की सर्वोच्च अदालत ने पूर्व राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ को बिना किसी शर्त के आम चुनाव लड़ने की अनुमति आखिरकार दे डाली है| सुप्रीम कोर्ट के आए इस अहम फैसले के बाद मुशर्रफ़ 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव के लिए नामांकन भर सकते है| पाकिस्तान के चीफ जस्टिस साकिब निसार की अगुवाई वाली तीन जजों की पीठ ने 71 वर्षीय पूर्व तानाशाह को 13 जून तक अदालत में पेश होने का आदेश दिया है| बता दें इस समय मुशर्रफ दुबई में रह रहे है|

2013 में पेशावर हाई कोर्ट द्वारा मुशर्रफ को आजीवन अयोग्य ठहराए जाने का मामला इस पीठ के समक्ष था| सुनवाई के दौरान अदालत ने मुशर्रफ को पहले लाहौर रजिस्ट्री के सामने पेश होने को कहा| इसके अलावा सरकार को मुशर्रफ की गिरफ़्तारी पर रोक लगाने का भी आदेश ज़ारी हुआ है जिसके बाद मुशर्रफ आराम से देश लौट सकते है| 2016 से मुशर्रफ गिरफ़्तारी के डर दुबई में रहने को मजबूर है क्योंकि पूर्व पीएम बेनज़ीर भुट्टो की हत्या करवाने के आरोप उन पर लगे थे| जनरल मुशर्रफ़ 1999 से 2008 देश के राष्ट्रपति रहे और अपने कर्यकाल के दौरान उन्होंने 2007 में देश में इमरजेंसी लगयी थी जिसके बाद उनके खिलाफ देश में माहौल बना था और उन्हें सत्ता गवानी पड़ी थी और देश में दशक बाद लोकतान्त्रिक चुनाव हुए थे|

कैसी विडंबना होगी उस देश के लिए जिसने आज़ादी के बाद से सिर्फ 1 पूरी सरकार को चलते देखा है और ऐसे में हाफीज सईद के बाद यदि जनरल साहब को भी चुनाव लड़ने का मौका मिला तो एक के भी सत्ता पाने के बाद लोकतान्त्रिक की उम्मीद करना बेईमानी है क्योंकि एक इस्लामिक स्टेट बनाएगा तो दूसरा मिलिट्री शासन लाएगा|

रमज़ान के महीने में उम्मीद करते है कि अल्लाहताला कुछ भला ही सोचे होंगे खुद को पाक कहने वाले इस नापाक देश की किस्मत में वह भी इतने पाप करने के बावजूद!

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram